क्या अलग-अलग होते हैं दिन में काटने और रात में काटने वाले मच्छर

क्या अलग-अलग होते हैं दिन में काटने और रात में काटने वाले मच्छर

आजकल इस बरसात के मौसम में मच्छर का नाम सुनते ही डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया जैसी बीमारियों का ख्याल आता है। इनका ध्यान रखा जाना सबसे ज्यादा जरूरी है। आप ऐसा करते भी होंगे और रात में सोते वक्त मच्छर मारने की कॉइल, लिक्विड, मच्छरदानी या कोई और नुस्खा अपनाते होंगे, लेकिन क्या आप जानते हैं दिन में कई ऐसे मच्छर काटते हैं, जो जानलेवा भी हो सकते हैं।

अलग-अलग होते हैं दिन में और रात में काटने वाले मच्छर:

दिन में एडीज मच्छर काटते हैं और यह मच्छर रोशनी में काटते हैं। अगर रात में भी अच्छी रोशनी है तो इनके रात को भी काटने की संभावना रहती है। यह मच्छर सुबह भोर के समय, सूर्यास्त के समय, जब हल्का धुंधलापण रहता है तब काटता है। इस मच्छर के काटने की वजह से ही डेंगू जैसी बीमारियां होती है। 

कुछ मच्छर शाम होने के बाद यानि की अंधेरा होने पर काटते हैं, इन मच्छरों की कैटेगरी में जैसे क्युलेक्स, एनाफिलीज का नाम शामिल है। जिस तरह दिन में काटने वाले मच्छरों से डेंगू जैसी बीमारियां होती है, वैसे ही रात में काटने वाले मच्छरों की वजह से मलेरिया, जापानी इन्सेफेलाइटिस जैसी बीमारियां हो सकती है। 


यहां है ये अनोखी प्रथा, मर्दो से मार खाकर महिलाओं का हो जाता हैं बुरा हाल

यहां है ये अनोखी प्रथा, मर्दो से मार खाकर महिलाओं का हो जाता हैं बुरा हाल

इस दुनिया में आज भी बहुत सी अजीबोगरीब परंपरा चलती आ रही है। आज हम आपको एक ऐसी ही परंपरा के बारे में बताने जा रहे हैं जो आदिवासियों और पिछड़ी जातियों में आज भी निभाई जाती हैं। ये हैं इथोपिया की ऐसी जनजाति जहन महिलाएं अपने पति से पिटने में गर्व महसूस करती हैं। और इन्ही की कुछ तस्वीरें कैमरे में कैद की एक फ्रेंच फोटोग्राफर ‘एरिक लैफोर्ग’ ने।

मार खाती है महिलाएं:

ये जनजाति है हैमर नाम की जाति। इनकी मानें तो ये कहते हैं कि ये जाति बहुत ही अलग है। इनके बारे में बता दे कि इस जाति के लोग कैटल जंपिंग सेरेमनी मनाते हैं ये उनका एक खास तरह का समारोह होता है। इस में 15 गायों को एक साथ खड़ा कर दिया जाता है और एक युवक उसे कूदते हुए पार करना होता है अगर कोई लड़का ऐसा नही कर पाया तो उसकी शादी नहीं की जाती है।

महिलाएं मिलकर उसे पीटती भी हैं। इसके बाद उस लड़के के घर की सभी औरतों को पीटा जाता है। महिलाओं को मारने के लिए पुरुषों का एक संगठन होता है जिसे ‘माजा’ कहते हैं। और इसे महिलाएं बहुत ही मज़े के साथ करती हैं।