सोलर पैनल बनाने वाली फैक्ट्री की इमारत गिरने से हुई दो लोगो की मौत

सोलर पैनल बनाने वाली फैक्ट्री की इमारत गिरने से हुई दो लोगो की मौत

नोएडा के सेक्टर-24 थानाक्षेत्र के भीतर आने वाले सेक्टर-11 के एफ- ब्लॉक में शुक्रवार रात को सोलर पैनल बनाने वाली एक फैक्ट्री की इमारत का अगला भाग गिरने से

हुई दो लोगों की मृत्यु के मुद्दे में पुलिस ने कंपनी के मालिक को अरैस्ट कर लिया है. उसे न्यायालय में पेश कर कारागार भेज दिया गया है. उधर, नोएडा प्राधिकरण इमारत को गैरकानूनी मानते हुए गिराने की तैयारी में है.

पुलिस के अनुसार, इस घटना में जान गंवाने वाले एक आदमी की पत्नी की शिकायत पर कंपनी मालिक के विरूद्ध गैर इरादतन मर्डर का मुकदमा दर्ज किया गया है. 

पुलिस उपायुक्त प्रथम संकल्प शर्मा ने बताया कि सेक्टर-24 थानाक्षेत्र के एफ-ब्लॉक में शुक्रवार रात को सोलर पैनल निर्माता कंपनी की इमारत का अगला भाग गिर गया था, जिसके उसके मलबे में चार मेहनतकश दब गए. एनडीआरएफ एवं दमकल विभाग ने मलबे में दबे लोगों को बाहर निकाला. उन्हें एक अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पर डॉक्टरों ने जयेंद्र ठाकुर एवं गोपी को मृत घोषित कर दिया, जबकि गंभीर रूप से घायल आशु एवं सागर का उपचार चल रहा है.

उन्होंने बताया कि जयेंद्र ठाकुर की पत्नी रेणु देवी की शिकायत पर कंपनी के मालिक आर। के। भारद्वाज के विरूद्ध धारा-304 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. आर। के। भारद्वाज मनुवादी मोर्चा के संयोजक हैं.

डीसीपी ने बताया कि पुलिस ने कंपनी के मालिक राम कुमार भारद्वाज को अरैस्ट कर लिया है. वहीं जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने सिटी मजिस्ट्रेट उमाशंकर सिंह को इस घटना की मजिस्ट्रीयल जाँच सौंपी है. नोएडा प्राधिकरण की तरफ से भी इस मुद्दे की जाँच की जा रही है.

रेणु देवी का आरोप है कि फैक्ट्री में गैरकानूनी रूप से निर्माण किया गया था, जिसकी वजह से यह एक्सीडेंट हुआ है. पुलिस सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर मुद्दे की जाँच कर रही है.

''प्रारम्भिक जाँच में कंपनी प्रबंधन की लापरवाही की बात सामने आई है. प्राधिकरण ने इस भूखंड की लीज डीड निरस्त करने का फैसला लिया है. आवश्यकता पड़ने पर इमारत भी गिराई जाएगी. भविष्य में ऐसे हादसे न हों, इसके लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए जाएंगे.''- रितु माहेश्वरी, सीईओ, नोएडा प्राधिकरण