टीवी शो अपराध पेट्रोल देखकर नोएडा की व्यक्तिगत, चार करोड़ रुपये लेकर हो गया फरार

टीवी शो अपराध पेट्रोल देखकर नोएडा की व्यक्तिगत, चार करोड़ रुपये लेकर हो गया फरार

टीवी शो अपराध पेट्रोल देखकर नोएडा की व्यक्तिगत कैश कंपनी का कस्टोडियन साथी के साथ कंपनी के लगभग चार करोड़ रुपये लेकर फरार हो गया. पुलिस ने दोनों आरोपियों को उत्तर प्रदेश के मैनपुरी से अरैस्ट कर लिया.

पुलिस ने आरोपियों से 3.60 करोड़ रुपये बरामद कर लिए हैं. पकड़े गए आरोपियों में 27 वर्षीय धर्मेश व 26 वर्षीय अजय शामिल हैं. जिले के डीसीपी जसमीत सिंह ने बताया कि नोएडा की कैश कंपनी लॉजीकैश सोल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड ने अपने कस्टोडियन धर्मेश के विरूद्ध पांडव नगर थाने में शिकायत दी थी.

कंपनी ने बताया कि धर्मेश चार करोड़, चार लाख, 84 हजार रुपये लेकर 11 नवंबर को उस वक्त फरार हो गया, जब कंपनी की कैश वैन मयूर विहार फेज-एक स्थित एचडीएफसी बैंक के लिए कैश लेकर आई थी. कस्टोडियन धर्मेश अपनी स्कूटी पर सवार था. वैन के चालक जसपाल व गनमैन विनोद सिंह ने कैश से भरा बक्सा धर्मेश को बैंक के सामने दिया. बक्सा देने के बाद कैश वैन चली गई. हालांकि, धर्मेश ने रकम बैंक में नहीं दी व उसे लेकर फरार हो गया.

यूपी से पकड़े गए आरोपी : पांडव नगर थाने की पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगाली तो पता चला कि धर्मेश वारदात के बाद अपने साथी के साथ स्कूटी से मयूर विहार में तीसरा पुश्ता उस्मानपुर, कैथवाड़ा पहुंचा था. फुटेज की मदद से धर्मेश के साथी अजय की भी पहचान हो गई. पुलिस ने सर्विलांस की मदद से उत्तर प्रदेश के मैनपुरी स्थित कुरावली गांव से मंगलवार प्रातः काल दोनों को दबोच लिया. आरोपी किराए का कमरा लेकर रह रहे थे. इनसे 5.55 लाख रुपये, एलईडी टीवी, सोने की चेन, अंगूठी व एक महंगा आईफोन बरामद हुआ. फिर इनकी निशानदेही पर लोनी के मिल्कपुर से एक अन्य किराए के कमरे से 3.55 करोड़ रुपये बरामद कर लिए गए.

रुपये लेकर गांव भाग गए

मयूर विहार से नकदी का बक्सा लेकर दोनों उस्मानपुर में यमुना खादर गए, वहां बैग में नकदी रखकर मिल्कपुर पहुंचे. यहां इन्होंने किराए के कमरे में 3.55 करोड़ रख दिए, जबकि10 लाख रुपये खर्चे के लिए अपने पास रख लिए व 35 लाख रुपये तीसरे साथी को दे दिए. दिल्ली भागकर दोनों हरिद्वार, चंडीगढ़, वाराणसी, गोरखपुर व पटना में ठिकाने बनाने की जुगत में लगे रहे. मगर बात न बनी तो पैतृक गांव कुरावली पहुंचे गए.

फ्लैट दिलाने का झांसा दिया

पुलिस पूछताछ में आरोपी धर्मेश ने बताया कि टीवी शो अपराध पेट्रोल देखकर उसने रुपये उड़ाने की योजना बनाई. साजिश में उसने बचपन के दोस्त अजय को शामिल किया. उसने अजय को फ्लैट दिलाने का झांसा दिया था.