इस घटना से फ़ैल गई सनसनी, जानिए क्या हैं मामला

इस घटना से फ़ैल गई सनसनी, जानिए क्या हैं मामला

रोहिणी स्थित निर्वाण अस्पताल के 62 वर्षीय मालिक डाक्टर ओम प्रकाश कुकरेजा व उनकी 51 वर्षीय महिला मित्र सुतापा मुखर्जी के मृत शरीर बुधवार प्रातः काल उनकी कार में मिलने से सनसनी फैल गई. महिला के सीने व डाक्टर कुकरेजा के सिर में गोलियां लगी थीं. दोनों मृत शरीर रोहिणी स्थित डाक्टर कुकरेजा के अपार्टमेंट के पास खड़ी उनकी कार से बरामद हुए. कार अंदर से लॉक थी.

डाक्टर ओम प्रकाश कुकरेजा व सुतापा मुखर्जी की मृत्यु से पर्दा उठाने लिए पुलिस की नजर चार मोबाइल नंबरों व दोनों परिवार के पांच सदस्यों से पूछताछ पर टिकी है.

पुलिस चारों मोबाइल की कॉल डिटेल खंगाल रही है. वहीं, परिवार के सदस्यों से पूछताछ कर पता लगाया जाएगा कि आखिरकार चिकित्सक व अस्पताल की एडिमन हेड के बीच ऐसा क्या हुआ, जिससे नौबत यहां तक पहुंच गई. पुलिस यह भी पता लगा रही है कि वारदात के पीछे किसी तीसरे शख्स का तो हाथ नहीं है. हालांकि, शुरुआती जाँच में यह बात साफ हो गई है कि डाक्टर कुकरेजा व सुतापा मुखर्जी के बीच नजदीकी थी. ऐसे में पुलिस यह जानने का कोशिश कर रही है कि दोनों के बीच नजदीकी या प्रॉपर्टी तो वारदात के पीछे की वजह नहीं है.

चार नंबरों पर होती थी सबसे ज्यादा बात

डाक्टर ओम प्रकाश कुकरेजा व सुतापा मुखर्जी के मोबाइल नंबरों की जाँच से पता चला है कि इनकी चार नंबरों पर ज्यादा बात होती थी. इस कारण इन नंबरों को पुलिस ने जाँच के दायरे में रखा है. हालांकि, इन नंबरों के बारे में पुलिस ने ज्यादा जानकारी नहीं दी.

डॉक्टर ने महिला मित्र को गोली से उड़ाकर दी जान

नई दिल्ली (प्र। सं। ) | पुलिस संभावना जता रही है कि चिकित्सक ने अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से महिला की मर्डर करने के बाद गोली मारकर खुदकुशी कर ली होगी. पुलिस यह पता लगाने का कोशिश कर रही है कि दोनों के बीच बेहद करीबी संबंध थे तो आखिरकार ऐसा क्या हुआ कि चिकित्सक ने महिला की मर्डर कर खुदकुशी कर ली. डीसीपी एस। डी। मिश्रा ने बताया सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए मुद्दे की जाँच कर रही है.

रोहिणी में है अस्पताल : पुलिस के मुताबिक, डाक्टर ओम प्रकाश कुकरेजा परिवार के साथ रोहिणी सेक्टर-13 स्थित रंग रसायन अपार्टमेंट में रहते थे. उनके परिवार में पत्नी, बेटा अखिल कुकरेजा उर्फ सन्नी व बेटी गुड़िया हैं. ईएनटी चिकित्सक अखिल अपनी पत्नी के साथ देहरादून के एक अस्पताल में प्रैक्टिस करते हैं, जबकि बेटी डाक्टर गुड़िया डेंटिस्ट है. वह यमुना विहार में रहती हैं. डाक्टर ओमप्रकाश कुकरेजा का रोहिणी सेक्टर-15 में निर्वाण अस्पताल है. शुगर की वजह से डाक्टर कुकरेजा की पत्नी को दिखाई देना बंद हो गया है.

महिला का बेटा दुबई में रहता है : सुतापा रोहिणी सेक्टर-18 में रहती थी. उनका शादीशुदा बेटा दुबई में रहता है. सुतापा करीब दो दशक से डाक्टर कुकरेजा के साथ ही कार्य कर रही थीं. वह अस्पताल के एडमिन व फाइनेंस डिपार्टमेंट की मुखिया थीं. मंगलवार रात दोनों विवाह में जाने की बात कर अपने-अपने घरों से निकले थे.

अपार्टमेंट के पास गली में कार खड़ी थी : बुधवार प्रातः काल करीब पौने आठ बजे राहगीरों ने पुलिस को बताया कि रंग रसायन अपार्टमेंट के पास गली में सफेद रंग की कार में दो लोग खून से लथपथ हालत में पड़े हैं. मौके पर पुलिस पहुंची देखा कि कार की अगली सीट पर दोनों मृत शरीर पड़े थे.

कार से ही लाइसेंसी रिवॉल्वर बरामद : खिड़की का शीशा तोड़कर शवों को बाहर निकालकर अंबेडकर अस्पताल पहुंचाया गया. कार से ही डाक्टर कुकरेजा की लाइसेंसी रिवॉल्वर बरामद हुई. इस आधार पर पुलिस संभावना जता रही है कि डाक्टर कुकरेजा ने सुतापा की मर्डर करने के बाद खुद को गोली मारकर जान दे दी होगी.

मौके से सुसाइडनोट नहीं मिला : पुलिस को कार से कोई सुसाइट नोट बरामद नहीं हुआ है. पुलिस का बोलना है कि डाक्टर कुकरेजा व सुतापा के बीच नजदीकी थी. वहीं, सूत्र बता रहे हैं कि सुतापा डाक्टर कुकरेजा से विवाह करने का दबाव बना रही थीं. इस कारण उन्होंने यह कदम उठाया. हालांकि, पुलिस का बोलना है कि इसकी जाँच की जा रही है. पुलिस अस्पताल के कर्मचारियों से भी पूछताछ कर रही है.

नर्स की जॉब से आरंभ की

करीब 25 वर्ष पहले डाक्टर कुकरेजा समयपुर बादली में अपना क्लीनिक चलाते थे. तब ही सुतापा ने बतौर नर्स क्लीनिक पर जॉब प्रारम्भ की थी. धीरे-धीरे डाक्टर कुकरेजा ने क्लीनिक का विस्तार किया तो सुतापा का कद भी बढ़ता गया. साल 2005 में डाक्टर कुकरेजा ने रोहिणी सेक्टर-15 में अस्पताल खोल लिया. इसके बाद सुतापा ही इसका कार्य संभालने लगीं. वह एडमिन व फाइनेंस डिपार्टमेंट का कामकाम देखती थीं.

अस्पताल का पूरा कार्य संभालती थीं

पुलिस की जाँच के दायरे में पांच लोग हैं. इनमें चिकित्सक की पत्नी, बेटी व बेटा तथा महिला का बेटा और पति शामिल हैं, जिनसे पुलिस पूछताछ करेगी. दरअसल, दोनों इतने समीप थे कि अस्पताल में सुतापा डाक्टर कुकरेजा के बाद नंबर दो की हैसियत से कार्य कर रही थी. उनका ज्यादातर समय भी अस्पताल में ही बीतता था. इनके बीच के राज को जानने के लिए पुलिस दोनों परिवार के इन पांचों सदस्यों से पूछताछ करेगी.

इन सवालों के जवाब तलाश रही पुलिस

किन दशा में वारदात की : डॉक्टर विवाह में जाने की बात कहकर घर से निकले थे, फिर ऐसी क्या हालात हुई कि ऐसा कदम उठा लिया.

गोली की आवाज नहीं सुनी : दोनों की मृत्यु गोली चलने से हुई है, मगर किसी ने भी गोली चलने की आवाज नहीं सुनी.

तीसरे शख्स का हाथ तो नहीं : मौत का कारण विवाह या प्रॉपर्टी टकराव तो नहीं है. इसके अतिरिक्त वारदात में किसी तीसरे शख्स का हाथ तो नहीं है.