गिलहरी ने लगाई ऐसी दौड़, यूजर ने कहा-मायके जाने की खुशी है भाई

गिलहरी ने लगाई ऐसी दौड़, यूजर ने कहा-मायके जाने की खुशी है भाई

सभी धर्मों में शुक्रवार के दिन का विशेष महत्व होता है। इस्लाम धर्म में शुक्रवार को जुम्मा कहा जाता है और इस दिन सभी लोग मस्जिद में इकट्ठा होकर नमाज अदा करते हैं। वहीं, हिन्दू धर्म में इस दिन धन की देवी मां लक्ष्मी की पूजा जाती है। जबकि, कामगारों के लिए शुक्रवार के दिन खुश होने का होता है, क्योंकि इस दिन वीकेंड से छुट्टी होती है। इसके लिए आईटी सेक्टर और कई अन्य क्षेत्रों के कामगार पहले से ही तैयारी करके आते हैं और उनके चेहरे पर प्रसन्नता साफ़ झलकती है। हालांकि, उनकी प्रसन्नता व्यक्त नहीं की जा सकती है, लेकिन कई मौके पर जीव-जंतुओं के व्यवहार से उनकी प्रसन्नता का साफ पता चलता है।


इस क्रम में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वारल हो रहा है, जिसमें एक गिलहरी भी वीकेंड ऑफ को व्यक्त कर रही है। इस वीडियो में साफ़ देखा जा रहा है कि एक गिलहरी पेड़ पर है। तभी उसे कोई संकेत प्राप्त होता है। वह संकेत जानकर तुरंत पेड़ से उतरकर दो टांगों पर खड़ी होकर लंबी दौड़ लगाती है। मानो उसे पता है कि दौड़ कैसे लगाई जाती है। इस दौरान गिलहरी अपनी दोनों टांगों पर बच्चे की तरह खड़ी हो जाती है और सरपट दौड़ लगाती है। इस क्रम में वह डांस कर लोगों का मनोरंजन भी कराती है। यह देख आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे।

इस वीडियो को भारतीय वन सेवा के अधिकारी सुशांत नंदा ने सोशल मीडिया ट्विटर पर अपने अकांउट से शेयर किया है। इसके कैप्शन में उन्होंने लिखा है-शुक्रवार को दोपहर बाद ऑफिस से निकलने की ख़ुशी। इस वीडियो को खबर लिखे जाने तक तकरीबन 50 हजार बार देखा गया है। वहीं, 5 हजार लोगों ने पसंद किया है। जबकि कुछ लोगों ने कमेंट किया है, जिसमें उन्होंने बंदर की तारीफ की है। एक यूजर ने लिखा है-पहली बार में ही मान लिया भाई। एक अन्य यूजर कीर्ति ने लिखा है- वीकेंड ऑफ की ख़ुशी है या मायके जाने की ख़ुशी है। एक अन्य यूजर ने लिखा है- कृपया, सोमवार को याद मत दिलाएगा।  


मुसाफिर को लूटने वाले बदमाशों को गाड़ी वाले ने सिखाया ऐसा सबक

मुसाफिर को लूटने वाले बदमाशों को गाड़ी वाले ने सिखाया ऐसा सबक

सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है, जिसे देख आप हैरान हो जाएंगे। वीडियो देख आप गाड़ी वाले की जमकर तारीफ करेंगे। वहीं, मुसाफिर भी गाड़ी वाले की तारीफ कर शुक्रिया अदा कर रहा है। इसके अलावा, वीडियो से यह सीख भी मिलती है कि राह चलते लोगों की हमें मदद करनी चाहिए। अक्सर लोग राह चलते मुसाफिरों की मुसीबत को उनके हाल पर छोड़ देते हैं। लोगों को इन हरकतों से बाज आकर एक दूसरे की मदद जरूर करनी चाहिए। इस वीडियो में गाड़ी वाले ने मदद की अनुपम उदाहरण पेश की है।


इस वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि एक मुसाफिर सड़क पर तेजी से कदम बढ़ाकर अपनी मंज़िल की तरफ बढ़ रहा है। वह मन ही मन अपने जीवन और पारिवारिक समस्याओं को गिन रहा है। तभी दूसरी दिशा से दो बदमाश बाइक पर सवार होकर आते हैं। इनमें एक बदमाश रिवाल्वर निकालकर मुसाफिर पर तान देता है। यह देख मुसाफिर घबरा जाता है। इस दौरान मुसाफिर के हाथ से थैला छूटकर नीचे गिर जाता है। वह घबराकर दीवार के सहारे सावधान मुद्रा में खड़ा हो जाता है। वहीं, एक बदमाश मुसफिर से सभी चीजें देने के लिए कहता है। यह सब कुछ दिनदहाड़े बीच सड़क पर किया जा रहा है।

तभी एक गाड़ी वाले की नजर बदमाशों पर पड़ती है। उस समय वह व्यक्ति मुसाफिर के लिए देवदूत बनकर आता है और न केवल बदमाशों को सबक सिखाता है, बल्कि मुसाफिर की संकट को भी दूर कर देता है। उस समय गाड़ी वाले फ़िल्मी स्टाइल में गाड़ी तेज कर बदमाशों की बाइक को जोरदार टक्कर मारता है। इससे दोनों बदमाश बाइक सहित हवे में उछलकर दूर गिर जाते हैं।

वहीं, गाड़ी वाला बिना रुके आगे बढ़ जाता है। बदमाश चोटिल होने पर तुरंत उठकर बाइक लेकर नौ दो ग्यारह हो जाते हैं। इस तरह मुसाफिर की जान बच जाती है। इस वीडियो को UncleRandom नामक शख्स ने सोशल मीडिया ट्विटर पर अपने अकांउट से शेयर किया है। इस वीडियो को खबर लिखे जाने तक सैकड़ों बार देखा गया है।