अरैस्ट डिप्टी सुपरिटेंडेंट के बेटे को पुलिस ने लिया अपने कब्जे में, पढ़े

अरैस्ट डिप्टी सुपरिटेंडेंट के बेटे को पुलिस ने लिया अपने कब्जे में, पढ़े

हरियाणा की गुरुग्राम पुलिस ने भोंडसी कारागार में बड़ा काण्ड करने की कथित धमकी देने के आरोप में अब इसी कारागार के पहले से ही अरैस्ट डिप्टी सुपरिटेंडेंट धर्मवीर चौटाला के बेटे रवि आनंद उर्फ चौटाला को हिरासत में लिया है.

पुलिस प्रवक्ता सुभाष बोकन ने शनिवार को बताया कि रवि ने भोंडसी कारागार में कोई बड़ा काण्ड करने की सोशल मीडिया पर धमकी दी थी. पुलिस ने इससे पहले कारागार में कैदियों को मादक पदार्थ, मोबाइल फोन व सिम कार्ड मुहैया कराने के आरोप में महेंद्र चौटाला को गत 23 जुलाई को कारागार परिसर स्थित उसके घर से हिरासत में लिया था. यहीं से पुलिस उसके एक साथी रवि उर्फ गोल्डी को भी हिरासत में लिया था. घर की तलाशी लिए जााने पर पुलिस को वहां से 11 सिम कार्ड व 230 ग्राम चरस बरामद की थी. पुलिस ने महेंद्र से पूछताछ के बाद कारागार में छापामार कर वहां बंद कैदियों से 12 मोबाइल फोन, नौ सिम कार्ड व 11 बैट्रियां बरामद की थीं.

पिता की गिरफ्तारी के बाद रवि चौटाला ने सोशल मीडिया पर ऑडियो मैसेज वायरल कर कारागार अधिकारियों व कर्मचारियों को कारागार में कोई बड़ा काण्ड करने व देख लेने की धमकी दी थी. उसने यह भी बोला था कि हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, दिल्ली व यूपी के सारे गैंगस्टर उसके संपर्क में हैं. गुरुग्राम कारागार में उसके पिता की बेइज्जती हुई है. वाट्सऐप पर वायरल इस मैसेज के बारे में एक मुखबिर ने कारागार सहायक अधीक्षक संजय कुमार को अवगत कराया. पुलिस ने इस पर तुरंत हरकत में आते हुए मुद्दा दर्ज कर रवि आनंद उर्फ चौटाला को अरैस्ट कर लिया.

पुलिस पूछताछ में रवि ने बताया कि उसने अपने दोस्तों के साथ बैठकर ऐसे ही ऑडियो रिकॉर्ड की दी थी. उसके बाद ऑडियो दोस्तों के माध्यम से वायरल होते हुए कारागार ऑफिसर तक पहुंच गया. हालांकि, उसने यह ऑडियो रिकॉर्डिंग अपने मोबाइल फोन से बाद में डिलीट कर दी थी.