मृत शरीर के साथ दो दिन तक रहीं यह महिला घर में, जाने पूरी वारदात

मृत शरीर के साथ दो दिन तक रहीं यह महिला घर में, जाने पूरी वारदात

दिल्ली के कमला बाजार इलाके में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. रेलवे में इंजीनियर पति की मृत्यु के बाद उनके मृत शरीर के साथ दो दिन तक घर में उनकी पत्नी घर में रहीं. इस दौरान इसकी भनक नौ वर्षीय बेटी व नौकरानी को भी नहीं लगी. 

तीसरे दिन मृत शरीर से बदबू आने पर बेटी पिता के कमरे में गई तो उन्हें बेसुध देखकर अपने मामा व पुलिस को फोन किया. बुधवार (4 दिसंबर) दोपहर करीब एक बजे पहुंची कमला बाजार पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद पत्नी को मृत शरीर से अलग किया.

प्राथमिक जाँच में सामने आया कि मृत्यु दिल की बीमारी के चलते हुई है. पत्नी अभी तक सदमे में हैं. वह पति की मृत्यु का यकीन नहीं कर पा रही हैं. परिजनों की गुहार पर पुलिस ने मृत शरीर का पोस्टमार्टम नहीं किया. पुलिस ने महत्वपूर्ण कानूनी कार्यवाही कर परिजनों को मृत शरीर सौंप दिया.  पुलिस ऑफिसर ने बताया कि 59 वर्षीय जय कुमार रेलवे में इंजीनियर थे. उनकी पत्नी 55 वर्षीय मीना रेलवे के स्कूल में ही अध्यापक हैं. इनके एक बेटी है. जय परिवार के साथ नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन के पास बनी रेलवे कॉलोनी में रहते थे. सोमवार (2 दिसंबर) प्रातः काल आकस्मित उनकी मृत्यु हो गई. मृत्यु के समय घर में उनके साथ पत्नी मीना ही थीं. मीना को उनकी मृत्यु का यकीन नहीं हुआ. उन्होंने बिस्तर पर पति के मृत शरीर को चादर से ढक दिया. वह पूरा दिन वहीं बैठकर गुजारतीं व रात को साथ ही सो रही थीं. यह क्रम दो दिन तक चला.  

खून देखने पर हुआ शक

तीसरे दिन भी जब जय बाहर नहीं निकले तो बेटी जबरन उन्हें देखने के लिए कमरे की तरफ गई. कमरे के बाहर बदबू आ रही थी. बेटी कमरे में पहुंची तो पिता के मुंह से खून निकलते देखा. इस पर उसे संदेह हुआ. उसने पिता को आवाज दी व हिलाया लेकिन कोई हरकत नहीं हुई. उसने तुरंत अपने मामा को फोन कर सूचना दी.

तबीयत बेकार बताई

जय कुमार के कमरे से बाहर नहीं निकलने व कार्यालय नहीं जाने पर जब बेटी व नौकरानी ने उनके बारे में पूछा तो मीना ने बोला कि उनकी तबीयत बेकार है व वह अपने कमरे में आराम कर रहे हैं. मीना सारे समय पति के पास ही बैठी रहती थी.