टीम ने तस्करी में शामिल तीन तस्करों को दो जार में बंद सांप के जहर समेत किया गिरफ्तार

टीम ने तस्करी में शामिल तीन तस्करों को दो जार में बंद सांप के जहर समेत किया गिरफ्तार

बिहार के अररिया में सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) की एक टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए दो जार में बंद सांप का जहर जब्त किया है. टीम ने तस्करी में शामिल तीन तस्करों को हिरासत में लिया है. बरामद जहर की मूल्य अंतरराष्ट्रीय मार्केट में 15 से 17 करोड़ रुपये से ज्यादा आंकी गई है.

एसएसबी के एक ऑफिसर ने बताया कि बुधवार की शाम गुप्त सूचना मिलने के बाद एसएसबी की एक टीम ने पीरगंज इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया. इसी दौरान पीरगंज के पास एक बाइक पर सवार तीन लोगों को रोककर तलाशी ली गई तो उनके पास से मेड इन फ्रांस मार्का लेबल लगे सर्प विष से भरे दो जार बरामद हुए.

उन्होंने बताया कि एक जार में 1.805 किलोग्राम पाउडर के रूप में, जबकि दूसरे जार में 1.730 किलोग्राम क्रिस्टल (रवादार) के रूप में सांप का जहर था.

एसएसबी 52वी बटालियन के कमांडेंट वीके वर्मा ने गुरुवार को बताया कि बाइक पर सवार तीनों लोगों को अरैस्ट कर लिया गया है. अरैस्ट लोगों की पहचान नरेश यादव व जितेंद्र यादव (सिकटी थाना, दहिपोरा मजरख) तथा नरेश यादव (फुलकाहा थाना, मिल्की डुमरिया) के रूप में की गई है.

उन्होंने बताया कि पूछताछ में तस्करों ने स्वीकार किया कि सांप का विष बांग्लादेश के रास्ते पश्चिम बंगाल के मालदा जिले से तस्करों द्वारा लाया गया था व यहां से फिर किसी अन्य तस्कर को दिया जाना था. इन सभी को वन विभाग के अधिकारियों को सौंप दिया गया है.