स्पेशल सब-इंस्पेक्टर ने ली खुद की जान, जानिए कारण

स्पेशल सब-इंस्पेक्टर ने ली खुद की जान, जानिए कारण

देश के दक्षिम प्रदेश तमिलनाडु से बड़ी समाचार सामने आई है. कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के बीच यहां स्टेट आर्म्ड पुलिस फोर्स के एक स्पेशल सब-इंस्पेक्टर ( Special Sub-Inspector ) ने आत्महत्या ( Suicide ) कर ली. एसएसआई के इस कदम से हड़कंप मच गया है. दरअसल स्पेशल सब इंस्पेक्टर

चेन्नई ( Chennai ) स्थित विश्व हिंदू परिषद ( Vishva Hindu Parishad ) के ऑफिस के पीछे खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली है.

एसएसआई के सुसाइड की जानकारी मिलते ही पुलिस बल वहां पहुंचा. मिली जानकारी के मुताबिक 47 वर्षीय इंस्पेक्टर ने कदम अवसाद में आ जाने की वजह से उठाया है.

घटना चेन्नई की बताई जा रही है. हालांकि खुदकुशी करने वाले स्पेशल सब इंस्पेक्टर जी सेकर मूल रूप से वेल्लोर जिले के निवासी थे.

दो वर्ष से वीएचपी ऑफिस में थे तैनात
सेकर प्रदेश सशस्त्र पुलिस बलों की 47वां पलाटून के एच कंपनी में SSI के तौर पर कार्य कर रहे थे. पिछले दो सालों से उन्हें विश्व हिंदू परिषद के ऑफिस में सुरक्षा ऑफिसर के रूप में तैनात किया गया था.
खास बात यह है कि उन्होंने आत्महत्या भी वीएचपी ऑफिस के पीछे जाकर ही की है.

पुलिस को मिला नोट
एसएसआई ने के सुसाइड स्पॉट से पुलिस के एक नोट भी मिला है. इस नोट में लिखा है कि जी सेकर पिछले कुछ दिनों से आर्थिक कठिनाई से गुजर रहे थे. दरअसल उन्होंने 25 लाख रुपए की मूल्य की एक बिल्डिंग खरीदने के लिए मार्केट से कर्ज़ लिया था.

इस कर्ज़ को चुकाने के लिए उनके पास पैसा नहीं होने से वे पिछले बहुत ज्यादा समय से अवसाद यानी डिप्रेशन में चल रहे थे. इस डिप्रेशन के चलते उन्होंने आत्महत्या का कदम उठाया.

हालांकि पुलिस को ये बात समझ नहीं आ रही है कि जब सेकर ने बिल्डिंग खरीदने के लिए 25 लाख रुपए का कर्ज़ लिया होगा तो इसे कैसे चुकाया जाएगा ये सोचकर ही लिया हो. ऐसे में आकस्मित इसको लेकर डिप्रेशन में आने वाली बात शंका जरूर पैदा करती है.

घटना स्थल पर उपस्थित लोगों ने गोली का आवज सुनने के बाद तुरंत पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने मौके से मृत शरीर को चेन्नई के राजीव गांधी सरकारी अस्पताल में पोस्टमोर्टम के लिए भेज दिया.

यही नहीं पुलिस SSI की ओर से प्रयोग की गई बंदूक को जब्त कर लिया है. वैसे पुलिस मुद्दे का जाँच में जुट गई है.