बलात्कार पीड़िता ने खुद को लगाई आग, परिवार वालो ने मुद्दा किया दर्ज

बलात्कार पीड़िता ने खुद को लगाई आग, परिवार वालो ने मुद्दा किया दर्ज

 छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कवर्धा (Kawardha) जिले में एक बलात्कार (Rape) पीड़िता द्वारा खुद को आग लगाकर आत्महत्या (Suicide) करने का मुद्दा सामने आया है। 

मुद्दा लोहारा थाने के ग्राम पेंड्रीखुर्द का है। बताया जा रहा है कि महिला के साथ गांव के ही युवक ने दुष्कर्म किया था। उसके विरूद्ध कार्रवाई भी हुई है, आरोपी कारागार में भी है, लेकिन घर वालों का आरोप है कि पीड़िता के साथ एक ने नहीं बल्कि चार आरोपियों ने दुष्कर्म किया था। फिर भी थाना प्रभारी ने एक विरूद्ध कार्रवाई की। तीन अन्य लोगों के विरूद्ध कोई कार्रवाई नहीं हुई। यही नहीं तीन लोग बलात्कार पीड़िता और उसके परिवार वालों को डराते धमकाते थे, परेशान कर रहे थे। जिससे तंग आकर पीड़िता ने आत्महत्या की है।

बलात्कार पीड़िता के परिजनों ने एसपी को ज्ञापन सौंपकर नए सिरे जाँच की मांग की है। बीते 3 जुलाई को उपचार के दौरान महिला की मृत्यु हो गई। दरअसल पूरा घटनाक्रम 7 अप्रैल 2020 की है, जिस दिन महिला के साथ बलात्कार हुआ। रेप  के करीब 34 दिन बाद महिला ने घटना की रिपोर्ट लोहारा थाने में दर्ज कराई। उस दिन महिला ने थाना प्रभारी से चार लोगों के विरूद्ध बलात्कार की बात कही, लेकिन पुलिस ने केवल एक आरोपी के विरूद्ध मुद्दा दर्ज किया। बाकि तीन के विरूद्ध कोई कार्रवाई हुई, न मुद्दे में जाँच हुई।

मिट्टी ऑयल डालकर आत्महत्या की कोशिश



परिजनों के मुताबिक बलात्कार पीड़िता ने 28 जून 2020 को मिट्टी ऑयल डालकर आत्महत्या की प्रयास की, जिसकी ईलाज के दौरान मेकाहारा रायपुर में मृत्यु हो गई है। अब मृतका के पिता पुलिस से न्याय की गुहार लगा रहे हैं। बलात्कार पीड़ित मृतका का बेटा भी अपनी मां के साथ हुए हवस को लेकर कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहा है। मृतका के परिजनों ने बताया कि महिला के साथ चार लोगों ने दुष्कर्म किया था, लेकिन पीड़िता उनमें से केवल को पहचानती थी। तीन अन्य लोगों का नाम उसे नहीं पता था। इसलिए नाम नहीं बता सकी, जिस पर पुलिस ने केवल आरोपी जिसका नाम महिला ने बताया था। उसी के विरूद्ध कार्रवाई की बाकि तीन के विरूद्ध कोई कार्रवाई नहीं हुई। उनका नाम ही आरोपियों की सूची में नहीं रखा गया। जिसके बाद से महिला सदमें में थी,परेशान थी।

जांच में जुटी पुलिस
कवर्धा के अलावा पुलिस अधीक्षक अनिल सोनी का बोलना है कि जिस दिन महिला ने रिपोर्ट लिखाई थी। उस दिन एक ही आरोपी होने की जानकारी दी थी, जिसे अरैस्ट कर लिया गया था। चालान भी पेश कर दिया गया है। आरोपी कारागार में भी है। मृतका के पिता ने एसपी को ज्ञापन सौंपकर जाँच की मांग की है। पिता के आवेदन पर पुलिस पीड़िता ने आत्महत्या क्यों कि इस पर जाँच करेगी, जो भी तथ्य सामने आएंगे,उसके अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी।