केरल में 30 किलोग्राम सोने की तस्करी मुद्दे में पुलिस ने किया ये बड़ा खुलासा

केरल में 30 किलोग्राम सोने की तस्करी मुद्दे में पुलिस ने किया ये बड़ा खुलासा

 केरल में 30 किलोग्राम सोने की तस्करी के मुद्दे ( Kerala Gold Smuggling ) में कस्टम अधिकारियों ने बड़ा खुलासा किया है. सीमा शुल्क विभाग व रेवेन्यू इंटेलिजेंस निदेशालय के सूत्रों के मुताबिक कोरोना वायरस महामारी ( COVID-19 ) के चलते कस्टम अधिकारियों द्वारा हवाई अड्डों पर पुख्ता जाँच ना किए जा सकने के चलते सोने के तस्कर विशेष चार्टर्ड विमानों से पश्चिमी एशिया से यहां सोना ला रहे

हैं. वहीं, केन्द्र सरकार ने इस मुद्दे में गंभीरता दिखाते हुए कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है. जबकि इस मुद्दे की मुख्य आरोपी स्वप्ना सुरेश ( swapna suresh ) ने केरल हाई कोर्ट ( Kerala High Court ) में अग्रिम जमानत की अर्जी लगाई है.

सीमा शुल्क आयुक्त (कोच्चि) सुमित कुमार ने बोला कि तिरुवनंतपुरम हवाई अड्डे पर रविवार को राजनयिक कार्गो से 30 किलोग्राम सोना जब्त होने के बाद मुद्दा देश की सुर्खियों में आ गया. उन्होंने अब तक प्रदेश के चार हवाई अड्डों पर खाड़ी राष्ट्रों से अप्रवासियों के साथ लौटने वाली चार्टर्ड उड़ानों के दो दर्जन मामलों में 20 किलो सोना जब्त किया है.

कुमार ने बताया कि पश्चिम एशियाई राष्ट्रों में सक्रिय सोने के तस्कर यात्रियों को निकासी के लिए जाने वाली उड़ानों में कैरियर के रूप में प्रयोग कर रहे हैं. केरल की एक चार्टर्ड उड़ान के लिए केवल 13 से 14 लाख रुपये की जरूरत पड़ती है. तस्करों का सिंडिकेट सरलता से इतना भुगतान कर सकता है व यात्रियों को टिकट का भुगतान या कमीशन देकर उन्हें सोने का कैरियर बना सकता है. रैकेट इस ढंग से कई करोड़ का सोना भेज सकते हैं. दशा का लाभ उठाते हुए तस्कर संकट में फंसे लोगों को भर्ती करने में सफल रहे हैं

हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया

वहीं, इस मुद्दे की आरोपी स्वप्ना सुरेश ने केरल हाई कोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए अर्जी लगाई है. उच्च न्यायालय इस याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा. स्वप्ना ने इस याचिका में दावा किया है कि वह बेगुनाह हैं व मीडिया उन पर निराधार आरोप लगा रही है. उन्होंने याचिका में दावा किया है कि उनके पास बैगेज को क्लीयर करने के लिए महत्वपूर्ण क्रिडेंशियल्स हैं. यूएई वाणिज्य दूतावास के अधिकारियों ने उनसे ऐसा करने के लिए बोला था.

इस मुद्दे ने केरल के सीएम पिनारायी विजयन को हिला कर दिया है. स्वप्ना सुरेश प्रदेश में सत्तारूढ़ वाम लोकतांत्रिक मोर्चा सरकार की करीबी मानी जाती हैं. संदिग्ध योग्यता होने के बाद भी वह ऊंचे वेतन वाली जॉब कर रही थीं. इसके अतिरिक्त स्वप्ना वरिष्ठ आईएएस ऑफिसर एम शिवशंकर की बेहद करीबी हैं. शिवशंकर, विजयन के सचिव व प्रदेश के आईटी सचिव हैं.