हैदराबाद गैंगरेप व हत्या केस के चारों आरोपी शुक्रवार प्रातः काल पुलिस एनकाउंटर में गए मारे

हैदराबाद गैंगरेप व हत्या केस के चारों आरोपी शुक्रवार प्रातः काल पुलिस एनकाउंटर में गए मारे

हैदराबाद गैंगरेप व हत्या केस के चारों आरोपी शुक्रवार प्रातः काल पुलिस एनकाउंटर में मारे गए. बताया जा रहा है कि पुलिस चारों आरोपियों को लेकर सीन रीक्रीएट करने घटनास्थल ले गए थी जहां उन्होंने भागने की प्रयास की. इसके बाद पुलिस ने एनकाउंटर में चारों आरोपियों को मार गिराया. इन चारों आरोपियों ने 27 व 28 नवंबर की दरमियानी रात को पशु डॉक्टर के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया गया था. 

गैंगरेप-मर्डर की वारदात में पुलिस ने चारों आरोपियों को 24 घंटे के अंदर अरैस्ट कर लिया था. आरोपियों की पहचान मोहम्मद आरिफ (26), जोल्लू शिवा (20), जोल्लू नवीन (20) व चिंतकुंटा चेन्नाकेशवुलू के तौर पर हुई थी. आरोपियों ने पुलिस को बताया था कि नवीन को उस वेटनरी चिकित्सक की स्कूटी को पंचर करना था व उसकी वापसी तक उसका इंतजार करना था. जब वे महिला चिकित्सक गाछीबावली से 9 बजकर 15 मिनट पर अपनी स्कूटी लेने के लिए वापस लौटी तो आरिफ अपने ट्रक से उतरा व उसके पास गया व बोला कि यह टायर पंचर है. जिसके बाद उसने वेटनरी चिकित्सक से स्कूटी को रिपेयर कराने का ऑफर किया. उसके बाद उसने सफाई करने वाले शिवा के साथ स्कूटी भेज दी.

आरोपियों ने आगे बताया कि अच्छा उसी वक्त महिला चिकित्सक ने अपनी बहन को फोन कर बताया कि एक ट्रक ड्राईवर ने पंचर अच्छा कराने का ऑफर किया है व सफाई करनेवाले को रिपेयर के लिए देकर भेजा है. दोनों बहनों की वार्ता के करीब 15 मिनट बाद 9:40 मिनट पर महिला चिकित्सक का फोन स्वीच ऑफ हो गया. पुलिस ने बताया कि आरिफ, नवीन व चेन्नकेशवुलू ने जबरदस्ती पास के एक चहारदीवारी में ले गया व उसके साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया.

आरोपियों को अरैस्ट करने के बाद पुलिस ने उन्हें न्यायालय में पेश किया था, जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. शादनगर न्यायालय ने बुधवार को चारों आरोपियों को 7 दिन की पुलिस रिमांड दी थी. इसके बाद पुलिस ने गुरुवार को पूछताछ की.