Uttar Pradesh: ओमीक्रॉन की दस्तक से अलर्ट हुई योगी सरकार

Uttar Pradesh: ओमीक्रॉन की दस्तक से अलर्ट हुई योगी सरकार

देश के कई राज्यों में कोरोना के घातक वैरिएंट ओमीक्रॉम के मामले सामने आने लगे हैं. जानकारी के मुताबिक देश में इस वैरिएंट के 17 मामले अभी तक आ चुके हैं. वहीं ओमीक्रॉन की दस्तक के बाद यूपी में अलर्ट जारी है. असल में इसे कोरोना की तीसरी लहर माना जा रहा है और तीसरी लहर के डर के कारण स्वास्थ्य विभाग तैयारियों में जुट गए हैं. मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रदेश के सभी सरकारी मेडिकल कॉलेजों, पीएचसी और सीएचसी में 74 हजार से अधिक बेड बढ़ाने की तैयारी की जा रही है. ताकि किसी भी आपात स्थिति में इससे निपटा जा सके.

असल में राज्य स्तरीय स्वास्थ्य सलाहकार समिति ने ओमीक्रॉन से जुड़े विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हुए अपनी रिपोर्ट तैयार की है और इस रिपोर्ट के आधार पर प्लान तैयार किया गया है. वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस संक्रमण से बचाव के लिए समिति की रिपोर्ट में शामिल बिंदुओं पर गंभीरता से काम करने के निर्देश अफसरों को दिए हैं. वहीं सीएम योगी ने वैक्सीनेशन को और तेज करने का आदेश दिया है.

कोरोना टेस्ट बढ़ाने के आदेश

वहीं राज्य में लगातार दूसरे दिन प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी देखी गई है और राज्य में पिछले 24 घंटे में राज्य में 29 नए कोरोना संक्रमण मामलों की पुष्टि हुई. जबकि राज्य में शनिवार को 27 संक्रमित पाए गए थे. इसके बाद सभी जिलों को जांचों की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं और वहीं हर जिले में होने वाले कुल टेस्ट में से 70 प्रतिशत आरटीपीसीआर करने को कहा गया है. राज्य के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ वेदव्रत सिंह का कहना है कि पहली लहर के बाद प्रदेश में आरटीपीसीआर टेस्ट की सुविधाएं बढ़ाई गई थीं और जिलों में आरटीपीसीआर टेस्ट की सुविधा के लिए बीएसएल-2 लैब खोली गई है. फिलहाल राज्य में जीनोम सीक्वेंसिंग की स्पीड भी बढ़ाई जा रही है और पीजीआई, केजीएमयू में जीनोम जांच में तेजी लाने के आदेश दिए गए हैं.

यूपी में बढ़ाई गई सक्रियता

वहीं दुनिया के कई देशों के साथ ही देश में ओमीक्रोन की दस्तक के बाद राज्य में भी अलर्ट कर दिया गया है. सरकार ने रेलवे स्टेशन, बस अड्डे और एयरपोर्ट पर टेस्ट कराने के आदेश दिए गए हैं. वहां कर्नाटक, गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान और दिल्ली में मरीज मिलने के बाद सरकार ने स्वच्छता, कोविड प्रोटोकॉल, फोकस टेस्टिंग, टीकाकरण, सर्विलांस, सेनिटाइजेशन को बढ़ाया और अफसरों को आदेश दिए हैं वह सख्ती से इनको लागू करे.


Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

मकर संक्रांति पर्व को लेकर थोक और फुटकर बाजारों में ग्राहकों की रौनक रही। गजक, तिल के लड्डू, पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत गुड़ और शक्कर के बने उत्पादों की अच्छी बिक्री हुई।

नया चावल और उड़द-मूंग की दाल भी खूब बिकी। हालांकि, बाजार में महंगाई की मार भी दिखी। सोशल डिस्टेंसिंग धड़ाम रही, तमाम ग्राहक मास्क तक नहीं लगाए थे। 

कानपुर नमकीन, बेकरी, गजक, पेठा एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्मल त्रिपाठी ने बताया कि पिछले साल की तुलना में गुड़ और शक्कर के दाम बढ़े हैं। पिछले साल की तुलना में करीब 10-15 फीसदी दाम तेज हैं। गुड़ की गजक 240 रुपये किलो बिकी। गुड़ रोल और पंजाबी चिक्की का भाव 260 रुपये किलो रहा।

काले तिल का लड्डू 280 और सफेद तिल का लड्डू 260 रुपये किलो में बिका। बाजार में ग्राहकों की पसंद को देखते हुए चॉकलेट, खोवा, मेवा गजक भी हैं। इसके दाम अलग-अलग क्वालिटी के अनुसार 400 से 600 रुपये किलो तक है। महामंत्री शंकर लाल मतानी ने बताया कि बाजार में अच्छी संख्या में ग्राहक थे।

दोनों प्रकार के तिल के लड्डू, रामदाना, लइया की भी अच्छी डिमांड देखने को मिली। चावल और दाल कारोबारी सचिन त्रिवेदी ने बताया कि खिचड़ी में नया चावल ही इस्तेमाल में आता है। इसके चलते चावल और दालों की अच्छी बिक्री हुई।