UP News: प्रदूषण फैलाने वाली गतिविधियों पर 4 लाख रुपये का जुर्माना

UP News: प्रदूषण फैलाने वाली गतिविधियों पर 4 लाख रुपये का जुर्माना

नोएडा प्राधिकरण ने शनिवार को प्रदूषण के नियमों के उल्लंघन को लेकर 4 लाख रुपएए का जुर्माना लगाया है. अधिकारियों के मुताबिक, नोएडा क्षेत्र में ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) प्रोटोकॉल के तहत निगरानी और पानी के छिड़काव का काम किया जा रहा है. बता दें कि दो कंपनियों चेन्नई MSW और BVG इंडिया लिमिटेड की ओर से करवाई जा रही सफाई के दौरान घूल उड़ने से प्रदूषण का कारण पाया गया है.

अधिकारियों के अनुसार, नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) के नियमों के कथित उल्लंघन के लिए हर कंपनी को 2 लाख रुपए का भुगतान करना होगा. सफाई प्रक्रिया के दौरान क्षेत्र में कचरा फेंकने के लिए BVG इंडिया पर भी जुर्माना लगाया गया था.

आज 12 किलोमीटर से ज्यादा के क्षेत्र में किया गया पानी का छिड़काव

नोएडा प्राधिकरण GRAP नियमों के अनुसार, 10 कार्य मंडलों के भीतर सभी प्रमुख मार्गों पर छिड़काव करता है. रविवार को 76 टैंकरों से 12.25 किलोमीटर के क्षेत्र को कवर किया गया. शहर के विभिन्न हिस्सों से लगभग 404.90 टन मलबा एकत्र किया गया और फेंका गया. अधिकारियों के मुताबिक, 67 मार्गों में 243 किलोमीटर के क्षेत्र को भी यांत्रिक सफाईकर्मियों द्वारा कवर किया गया था.

नोएडा में एयर पॉल्यूशन ‘गंभीर’ श्रेणी में

गौरतलब है कि नोएडा में वायु की गुणवत्ता के ‘बहुत खराब’ श्रेणी से ‘गंभीर’ हो जाने के बाद प्रदूषण संबंधी नियंत्रण के उपाय किए गए हैं. प्रदूषण फैलाने वाले कामों पर अंकुश लगाने के लिए दिवाली के बाद से ही सरकारी संगठन सफाई कर रहे हैं और जुर्माना लगा रहे हैं. सेक्टर 62 स्थित मॉनिटरिंग स्टेशन ने शनिवार को वायु गुणवत्ता 420 दर्ज की. ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क के स्टेशन ने AQI को 300 से 350 के बीच सबसे खराब रेंज में दिखाया.

डॉक्टरों ने एहतियात बरतने की सलाह दी

आने वाले दिनों में ठंड बढ़ने के साथ ही वायु प्रदूषण भी बढ़ेगा. लिहाजा डॉक्टर दमा मरीजों को विशेष एहतियात बरतने की सलाह दे दहे हैं. ऐसे समय में दमा और सांस रोग से पीड़ित अन्य मरीजों को घर से कम से कम समय तक बाहर निकलने की सलाह दे रहे हैं. वायु प्रदूषण ज्यादा होने की स्थिति में सुबह और शाम को बाहर टहलने से परहेज करने की भी सलाह दी है. घर में ही हल्के व्यायाम करने की बात मरीजों को कही जा रही है.

पांच दिनों का AQI

तारीख नोएडा ग्रेटर नोएडा
4 दिसंबर 355 335
3 दिसंबर 312 262
2 दिसंबर 407 536
1 दिसंबर 360, 358
30 नवंबर 291, 254

Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

मकर संक्रांति पर्व को लेकर थोक और फुटकर बाजारों में ग्राहकों की रौनक रही। गजक, तिल के लड्डू, पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत गुड़ और शक्कर के बने उत्पादों की अच्छी बिक्री हुई।

नया चावल और उड़द-मूंग की दाल भी खूब बिकी। हालांकि, बाजार में महंगाई की मार भी दिखी। सोशल डिस्टेंसिंग धड़ाम रही, तमाम ग्राहक मास्क तक नहीं लगाए थे। 

कानपुर नमकीन, बेकरी, गजक, पेठा एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्मल त्रिपाठी ने बताया कि पिछले साल की तुलना में गुड़ और शक्कर के दाम बढ़े हैं। पिछले साल की तुलना में करीब 10-15 फीसदी दाम तेज हैं। गुड़ की गजक 240 रुपये किलो बिकी। गुड़ रोल और पंजाबी चिक्की का भाव 260 रुपये किलो रहा।

काले तिल का लड्डू 280 और सफेद तिल का लड्डू 260 रुपये किलो में बिका। बाजार में ग्राहकों की पसंद को देखते हुए चॉकलेट, खोवा, मेवा गजक भी हैं। इसके दाम अलग-अलग क्वालिटी के अनुसार 400 से 600 रुपये किलो तक है। महामंत्री शंकर लाल मतानी ने बताया कि बाजार में अच्छी संख्या में ग्राहक थे।

दोनों प्रकार के तिल के लड्डू, रामदाना, लइया की भी अच्छी डिमांड देखने को मिली। चावल और दाल कारोबारी सचिन त्रिवेदी ने बताया कि खिचड़ी में नया चावल ही इस्तेमाल में आता है। इसके चलते चावल और दालों की अच्छी बिक्री हुई।