सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को मिली यह बड़ी सलाह

सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को मिली यह बड़ी सलाह

दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की जीत ने कांग्रेस पार्टी को न सिर्फ दिल्ली बल्कि पंजाब में भी कठिन में डाल दिया है. सोशल मीडिया पर सक्रिय पंजाब के युवा अब सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को सलाह देने लगे हैं कि वे भी अरविंद केजरीवाल की तरह कार्य करें.

सीएम हर रोज करीब एक घंटे का समय अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर बिताते हैं. दिल्ली के चुनाव नतीजों के बाद जैसे ही उन्होंने अपने फेसबुक एकाउंट के जरिये पंजाब सरकार की उपलब्धि साझा की, रिप्लाई में पंजाब के लोगों ने उन्हें एक से बढ़कर सलाह देनी प्रारम्भ कर दी.

सीएम ने फेसबुक पर यह लिखा था कि पंजाब ट्रांसपोर्ट अथारिटी को हमने आदेश दिए हैं कि अगर अब बसों में भड़काऊ, आपत्तिजनक व हिंसा वाले गीत चलाए गए तो उन्हें भारी जुर्माना देना पड़ेगा. साथ ही चालान भी काटे जाएंगे. उन्होंने आगे लिखा-हम किसी भी तरह का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं करेंगे व अगर हमें किसी नियम का उल्लंघन होता दिखाई दिया तो उसके विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी. फेसबुक पर कैप्टन के इस एलान के तुरंत बाद उनके प्रशंसकों ने कई तरह से सुझाव देने प्रारम्भ कर दिए.

कुछ ने सलाह दी कि कांग्रेस पार्टी सरकार पब्लिक ट्रांसपोर्ट में सुधार लाए तो कुछ ने लिखा कि बसों की हालत बहुत खस्ता है व ड्राइवर-कंडक्टरों का व्यवहार भी अच्छा नहीं है. कुछ प्रशंसकों ने तो सवाल उठाया कि पंजाब में सभी व्यक्तिगत बसें तो मंत्रियों या बड़े सियासतदानों की हैं, इनका चालान कौन काटेगा? कुछ लोगों ने लिखा-कैप्टन साहब को दिल्ली के सीएम केजरीवाल की तरह कार्य करना चाहिए तभी पंजाब का सर्वपक्षीय विकास हो सकेगा. एक प्रशंसक ने लिखा- कांग्रेस पार्टी सरकार को प्रदेश में सिर्फ दो वर्ष रह गए हैं.

गरीब बच्चों की पढ़ाई के अतिरिक्त पूरी एजुकेशन प्रणाली में सुधार की आवश्यकता है. गरीब बच्चों के लिए सरकारी स्कूल तो हैं लेकिन उनमें पढ़ाई नहीं है. एक अन्य प्रशंसक ने लिखा- सूबे में गरीबों को बढ़िया स्वास्थ्य सुविधाएं देने के साथ-साथ बिजली के दाम कम किए जाएं वरना कांग्रेस पार्टी का पंजाब में वही हाल होगा जो दिल्ली में हुआ है. एक अन्य आदमी ने सीधे तौर पर एतराज जताया कि सरकार वह कार्य करे जो करने वाले हैं. बसों में गीत बंद करने से न तो महंगाई दूर होगी न बिजली सस्ती होगी.