शिक्षक बोले, "मुर्गा बनाने को बोला था, बनाया नहीं था"

शिक्षक बोले, "मुर्गा बनाने को बोला था, बनाया नहीं था"

रुहेलखंड विश्वविद्यालय के एक विभाग में मौखिक इम्तिहान ले रहे शिक्षक पर तीन विद्यार्थियों के साथ एक छात्रा को भी मुर्गा बना देने का आरोप लगा है. इससे विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों का गुस्सा भड़क गया है. छात्रों ने पहले छुट्टी पर गए एचओडी से फोन पर इसकी शिकायत की, फिर एक शिक्षक से भी इसकी शिकायत की. हालांकि विभाग के डीन ऐसी किसी शिकायत मिलने से मना कर रहे हैं.

विद्यार्थियों के मुताबिक एक विभाग में कुछ दिन पहले वायवा ले रहे शिक्षक ने कुछ विद्यार्थियों से प्रयोगशाला का नाम पूछ लिया. वे ठीक जवाब नहीं दे पाए तो शिक्षक ने तीन विद्यार्थियों के साथ एक छात्रा को भी मुर्गा बनने को कहा.

विद्यार्थियों का बोलना है कि हैरत में आई छात्रा ने पूछा- क्या मैं भी मुर्गा बनूं? इस पर शिक्षक ने कहा- क्या तुम्हें अलग से बोलना पड़ेगा? छात्रा को भी मुर्गा बनना पड़ा. यह घटना सार्वजनिक होने के बाद भड़के विद्यार्थियों ने इसकी शिकायत फोन पर अपने एचओडी से की. उन्होंने छुट्टी पर बाहर होने की बात कहते हुए बताया कि वह लौटकर इस मुद्दे का संज्ञान लेंगे, साथ ही कार्रवाई भी की जाएगी. विद्यार्थियों ने इसकी शिकायत एक अन्य शिक्षक से भी की.

शिक्षक बोले, "मुर्गा बनाने को बोला था, बनाया नहीं था"


वहीं आरोपी शिक्षक का बोलना है कि वायवा के दौरान प्रयोगशाला का नाम पूछने पर कोई विद्यार्थी नहीं बता पाया. इनमें कई विद्यार्थी व एक छात्रा थी. इस पर उन्होंने बस इतना बोला था कि तुम लोग क्या पढ़ाई करते हो, अभी तुम लोगों को मुर्गा बना दूंगा. इसी पर विद्यार्थी नोकझोंक करने लगे. किसी भी विद्यार्थी या छात्रा को मुर्गा नहीं बनाया गया. यह शिकायत पूरी तरह झूठी है.