अयोध्या के इस अनोखे बैंक में रुपए नहीं

अयोध्या के इस अनोखे बैंक में रुपए नहीं

अयोध्या राम नगरी में स्थित है एक ऐसा अनोखा अंतर्राष्ट्रीय बैंक जहां रुपए का लेनदेन नहीं बल्कि राम नाम का लेखा जोखा रखा जाता है इतना ही नहीं, इस बैंक में आपको खाता भी सीताराम नाम से खुलता है आइए हम आपको बताते हैं धर्म नगरी अयोध्या में स्थित अंतर्राष्ट्रीय श्री सीताराम बैंक के बारे में जहां सीताराम (Sitaram) नाम का जप जमा किया जाता है साथ ही बैंक की तरह ही खाता खुलने के साथ पासबुक भी दी जाती है

बहरहाल, 1970 से संचालित श्री सीताराम अंतरराष्ट्रीय बैंक में लगभग 15.50 हजार करोड़ सीताराम नाम की संख्या जमा है सबसे खास बात इस बैंक की यह है कि यहां विभिन्न भाषाओं के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय भाषाओं में भी सीताराम नाम का जप जमा है वहीं, इस बैंक में श्रद्धालु चावल, चना, राई से भी भगवान राम का नाम लिखकर जमा करते हैं

5 लाख सीताराम नाम लिखने वालों का खुलता है खाता
इस अनोखे बैंक में 5 लाख सीताराम नाम लिखने वालों का ही खाता खोला जाता है और उनको पासबुक दी जाती है वहीं, 25 लाख या 50 लाख श्री सीताराम जप लिखने वाले श्रद्धालुओं को श्री सीताराम अंतरराष्ट्रीय बैंक से बाकायदा प्रमाण पत्र भी जारी किया जाता है

1970 में हुआ था सीताराम अंतरराष्ट्रीय बैंक का उद्घाटन
श्री सीताराम अंतरराष्ट्रीय बैंक के मैनेजर पुनीत दास बताते हैं कि कार्तिक कृष्ण पक्ष एकादशी के दिन 1970 में महंत नृत्य गोपाल दास ने इस बैंक उद्घाटन किया था लगभग 52 वर्ष से श्री सीताराम नाम अंतरराष्ट्रीय बैंक संचालित है पहले यहां से कॉपियां दी जाती हैं और फिर सीताराम नाम लिखकर लोग जमा करते हैं रोजाना यहां लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है और हम लोग गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में इस बैंक नाम दर्ज कराने का कोशिश भी कर रहे हैं

जानिए बैंक का खुलने का समय
यह बैंक अप्रैल-मई-जून-जुलाई-अगस्त के महीने में प्रातः काल 8 से 12 तक और सांयकाल 3 बजे से 5:30 बजे तक, दिसंबर-जनवरी में प्रातः काल 8 से 12 तक और सांयकाल 3 से 5 तक और फरवरी-मार्च में प्रातः 8 बजे से 12 बजे सांय 3 से 5:30 बजे तक खुलता है वहीं,अंतरराष्ट्रीय श्री राम नाम बैंक अयोध्‍या में छोटी छावनी के ठीक सामने स्थित है