इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों ने तैयार की अनोखी डिवाइस

इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों ने तैयार की अनोखी डिवाइस

राष्ट्र की राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली से सटे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के आरडी इंजीनियरिंग कॉलेज (RD Engineering College) के मैकेनिकल इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों ने एक अनोखी डिवाइस को तैयार किया है इससे पानी की बर्बादी को रोका जा सकेगा दरअसल यह डिवाइस खेतों में पानी भरते ही ट्यूबवेल को ऑटोमेटिक बंद कर देगी आपको बता दें कि खेतों में सिंचाई के लिए किसान बरसात और ट्यूबवेल पर ही निर्भर रहते हैं जब बरसात नहीं होती तो किसान ट्यूबवेल के जरिए खेतों में सिंचाई करते हैं

वहीं, अमूमन देखा जाता है कि किसान खेतों में ट्यूबवेल चला कर दूसरे कामों में लग जाते हैं जिस कारण खेत में वाटर ओवरफ्लो होने पर भी ट्यूबवेल लगातार चलता रहता है इससे पानी की काफी अधिक बर्बादी भी होती है, लेकिन अब इस डिवाइस में लगे सेंसर की सहायता से जैसे ही खेतों में पानी एक तय लेवल पर पहुंच जाएगा वैसे ही यह डिवाइस ट्यूबवेल को ऑटोमेटिक बंद कर देगी इससे एक ओर जहां पानी की बर्बादी होने से बचेगी, तो वहीं तेजी से नीचे जाते भूजल को भी सुधारा जा सकेगा इस डिवाइस का नाम ऑटोमेटिक सोलर वाटर पंप है

इस डिवाइस को आरडी इंजीनियरिंग कॉलेज के चार विद्यार्थी वरुण, तुषार कौशिक शबी आलम और प्रियांशु ने मिलकर तैयार किया है इस डिवाइस में सेंसर, रेड लाइट, पंप, सोलर पैनल, बैटरी, कैपिसेटर, रिले पावर डिस्ट्रीब्यूटर, ट्रांजिस्टर, रेसिस्टर आदि शामिल हैं

डिवाइस बनाने वाले विद्यार्थियों ने कही ये बात
न्यूज़ 18 लोकल को डिवाइस बनाने वाले विद्यार्थियों ने बताया कि किसानों की सिंचाई की परेशानी को देखते हुए यह डिवाइस बनाई गई है हम सभी जानते हैं कि भूजल तेजी से नीचे जा रहा है जो कि भविष्य में जल संकट ला सकता है इस डिवाइस से पानी की बर्बादी रुकेगी और किसान आराम से दूसरे कामों में भी अपना समय दे सकेंगे इस डिवाइस को बनाने में करीब एक महीने का समय लगा वहीं, इस काम में आरडी इंजीनियरिंग कॉलेज के डॉडीएस चौहान और सुशील कुमार ने विद्यार्थियों की सहायता की है


सीतापुर में B.ED परीक्षा को लेकर डीएम ने की बैठक

सीतापुर में B.ED परीक्षा को लेकर डीएम ने की बैठक

सीतापुर में जिलाधिकारी अनुज सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट बैठक भवन में संयुक्त प्रवेश परीक्षा बीएड 2022 को सकुशल सम्पन्न कराने हेतु बैठक हुयी. इस बैठक के दौरान अवगत कराया गया कि दिनांक 6 जुलाई 2022 को यह परीक्षा दो पालियों में होगी. पहली पाली सुबह 09 से दोपहर 12 बजे तक और दूसरी पाली दोपहर 02 बजे से 05 बजे तक चलेगी. इस परीक्षा के लिए इस जनपद में कुल 13 परीक्षा केन्द्र बनाए गए है जिसमें 5376 परीक्षार्थी सम्मिलित होगे.

नकलविहीन होगी बीएड प्रवेश परीक्षा
जिले में परीक्षा सकुशल सम्पन्न करने हेतु प्रत्येक परीक्षा केन्द्र हेतु केन्द्र प्रतिनिधि स्टेटिक मजिस्ट्रेट एवं पर्यवेक्षकों की नियुक्ति की जा चुकी है. साथ ही नकलविहिन एवं शुचितापूर्ण परीक्षा हेतु सचल दलों की प्रबंध की गयी है. बैठक में अपर पुलिस अधीक्षक दक्षिणी राजीव दीक्षित ने प्रत्येक केन्द्र पर पुलिस प्रबंध एवं सुरक्षा से संबंधित अन्य व्यवस्थाओं पर विस्तृत रूप से जानकारी दी. जनपद समन्वयक डा0 राजीव द्विवेदी ने बताया कि नियुक्ति कर्मियों एवं केंद्र व्यवस्थापकों के दायित्वों से अवगत कराया एवं परीक्षा संचालन हेतु आवश्यक गाइड लाइन दिये. जिलाधिकारी ने परीक्षा को सकुशल नकलविहिन सम्पन्न कराए जाने हेतु आवश्यक व्यवस्थाओं की समीक्षा की.

500 मीटर की दूरी पर बन्द रहेगी दुकानें
डीएम ने बैठक के दौरान बोला कि परीक्षा केन्द्र से 500 मीटर की दूरी तक सभी फोटोस्टेट,साइबर कैफे आदि की दुकानें बंद रहेगी. उन्होंने बोला कि परीक्षार्थियों के लिए पीने के लिए स्वच्छ पेयजल ,साफ-सफाई, विद्युत आदि की प्रबंध एक दिन पहले ही सुनिश्चित कर लिया जाये. बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि प्रत्येक केन्द्र पर सीसीटीवी प्रबंध के साथ ही समस्त संलग्न कर्मचारियों का आईडी प्रूफ जारी करते हुए इसकी सूचना जनपद के समन्वयक के पास मौजूद करा दी जाये.