उन्नाव बलात्कार पीड़िता की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में हालत गंभीर

उन्नाव बलात्कार पीड़िता की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में हालत गंभीर

95 फीसद तक झुलसी उन्नाव बलात्कार पीड़िता की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में हालत गंभीर बनी हुई है. सफदरजंग अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक सुनील गुप्ता (Dr Sunil Gupta, Medical Superintendent of Safdarjung Hospital) का बोलना है कि अस्पताल में भर्ती पीड़िता की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है. उसके बचने की आसार कम ही है. वैसे पीड़िता को वेंटीलेटर पर रखा गया है.

बता दें कि बृहस्पतिवार को95 फीसद तक झुलसी पीड़िता को एयर एंबुलेंस से दिल्ली भेजकर सफदरजंग अस्पताल के बर्न वार्ड में भर्ती कराया गया. पीड़िता को आइसीयू में वेंटिलेटर पर रखा गया है. उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कठोर रुख के बाद पुलिस ने पांचों आरोपितों को अरैस्ट कर लिया है. उधर, सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कड़ी कार्रवाई की आवश्यकता बताई.

वहीं,दुष्कर्म पीड़िता के बयान और उसके भाई की तहरीर पर पांच आरोपितों को हिरासत में लिया गया है. बता दें किउप्र के उन्नाव जिले में बलात्कार का मुकदमा वापस नहीं लेने पर आरोपितों और उनके परिजनों ने पीड़िता को जिंदा जला दिया. 25 वर्षीय युवती उन्नाव जिले के बिहार थाना क्षेत्र के एक गांव की है. उसने अपने ही गांव के शिवम त्रिवेदी व उसके साथी शुभम त्रिवेदी पर आरोप लगाया था कि 12 दिसंबर 2018 को उसके साथ बलात्कार किया. न्यायालय व महिला आयोग के आदेश पर आरोपितों के विरूद्ध मुकदमे दर्ज हुए थे, जिसकी जाँच पुलिस कर रही थी. इसके बाद से आरोपित मुकदमा वापसी का दबाव बना रहे थे. गुरुवार प्रातः काल पीड़िता बैसवारा रेलवे स्टेशन जा रही थी. रास्ते में शिवम व कुछ लोगों ने उसे रोका व केरोसिन छिड़ककर आग लगा दी.

वहीं,गंभीर रू प से घायल पीड़िता ने उन्नाव के जिला अस्पताल में एसडीएम बीघापुर के समक्ष बयान दिया. उसने बताया कि शिवम ने बात करने के लिए उसे रायबरेली चलने के लिए बुलाया था. शिवम के साथ उसके पिता रामकिशोर, शुभम व उसके पिता हरिशंकर के साथ उमेश वाजपेयी भी थे. सभी उस पर बलात्कार का मुकदमा वापस लेने का दबाव बना रहे थे. इन्कार करने पर केरोसिन छिड़ककर आग लगा दी. पीड़िता के बयान के आधार पर पांच लोगों के विरूद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है. इनमें शुभम, हरिशंकर, उमेश और राम किशोर को उन्नाव पुलिस ने अरैस्ट किया, जबकि आरोपित शिवम ने थाने आकर सेरेण्डर कर दिया.