CM योगी का बड़ा आदेश, उत्तर प्रदेश में किन कर्मचारियों काे मिलेगी वर्क फ्रॉम होम की सुविधा

CM योगी का बड़ा आदेश, उत्तर प्रदेश में किन कर्मचारियों काे मिलेगी वर्क फ्रॉम होम की सुविधा

यूपी सीम योगी आदित्यनाथ ने बोला है कि सभी सरकारी और प्राइवेट कार्यालयों में बीमार, दिव्यांग कर्मचारी और गर्भवती महिला कर्मचारियों को 'वर्क फ्रॉम होम' की सुविधा दी जाए. इन्हें ऑफिस आने की कोई अनिवार्यता नहीं है. इसी प्रकार, सभी सरकारी कार्यालयों में 50 परसेंट कार्मिक क्षमता से ही काम लिया जाए. एक समय मे एक तिहाई से अधिक कर्मचारी कतई मौजूद न रहें. इस व्यवस्था को तत्काल कारगर बनाया जाए.

मुख्यमंत्री ने टीम 9 के साथ मीटिंग में बोला कि कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट' की रणनीति के साथ-साथ प्रदेशवासियों को टीकाकरण का सुरक्षा कवर प्रदान करने की रणनीति के अच्छे रिज़ल्ट देखने को मिल रहे हैं. बीते 30 अप्रैल को कुल 03 लाख 10 हजार केस सक्रिय थे. आज एक हफ्ते की अवधि में 55,000 सक्रिय केस कम हुए हैं. 24 अप्रैल को सर्वाधिक 38 हजार पॉजिटिव केस आये थे, तब से नए केस में लगातार गिरावट आ रही है. साथ ही, स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या प्रत्येक दिन बढ़ती जा रही है. रिकवरी दर बेहतर होता जा रहा है. 24 घंटे में 2,41,403 कोविड टेस्ट किए गए हैं. इसी अवधि में 28,076 नए पॉजिटिव केस की पुष्टि हुई है, जबकि 33,117 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं. वर्तमान में 2,54,118 कुल सक्रिय केस हैं. इनमें 1,98,857 लोग होम आइसोलेशन में उपचाराधीन हैं.

मुख्यमंत्री ने बोला कि  वैक्सीनेशन की प्रक्रिया प्रदेश में तेजी से चल रही है. अब तक 01 करोड़ 34 लाख 30 हजार से अधिक डोज लगाए जा चुके हैं. अधिक संक्रमण दर वाले सात जिलों में 18-44 आयु वर्ग के 85,566 लोगों को वैक्सीनेट किया जा चुका है. यह अच्छा है कि इस आयु वर्ग में वैक्सीन वेस्टेज घटकर 0.11 परसेंट रह गया है. इसे शून्य तक लाने की जरूरत है. उन्होंने बोला कि आनें वाले सोमवार से 11 और जिलों में 18-44 आयु वर्ग के टीकाकरण अभियान का शुरुआत होगा. सम्बंधित प्रभारी मंत्री/स्थानीय जनप्रतिनिधि किसी न किसी टीकाकरण केन्द्र पर मौजूद रहें. लोगों का उत्साहवर्धन के लिए जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति सहायक होगी. चिकित्सा एजुकेशन मंत्री के स्तर से वैक्सीन निर्माता कंपनियों से सतत सम्पर्क बनाये रखा जाए. प्रदेश सरकार सभी नागरिकों को टीकाकरण का सुरक्षा कवर निशुल्क मौजूद करा रही है. स्वास्थ्य जानकारों के परामर्श के मुताबिक कोविड-19 संक्रमित अथवा लक्षण वाले लोग अभी टीकाकरण न कराएं. इसी प्रकार स्वास्थ्य जानकारों का यह भी मानना है कि कोविड संक्रमित आदमी को स्वस्थ होने के न्यूनतम एक माह बाद ही वैक्सीनेशन कराना चाहिए. स्वास्थ्य संबंधी इन जरूरी जानकारियों से लोगों को जागरूक किया जाए.

मुख्यमंत्री ने बोला कि यह सुनिश्चित किया जाए कि टीकाकरण केंद्रों पर कोविड प्रोटोकॉल का कठोरता से अनुपालन हो. ऑन-द-स्पॉट  पंजीयन से अव्यवस्था हो सकती है. अनावश्यक भीड़ न हो, इसके लिए औनलाइन  पंजीयन व्यवस्था को ही लागू रखना उचित होगा. जिनकी बारी है उनसे यथासंभव एक-दो दिन पूर्व फोन से सम्पर्क कर लिया जाना उचित होगा. संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए गांव-गांव टेस्टिंग का महा अभियान चल रहा है. लोग इसमें योगदान कर रहे हैं. नज़र समितियां घर-घर जाएं, स्क्रीनिंग करें, होम आइसोलेशन के मरीजों को मेडिकल किट मौजूद कराएं. लक्षणयुक्त लोगों के बारे में आरआरटी को सूचना देकर उनका एंटीजन टेस्ट कराया जाए. डीएम और सीएमओ यह सुनिश्चित करें कि टेस्ट की यह प्रक्रिया गांव में ही हो. सीएचसी/पीएचसी पर जाने की कोई अवश्यकता नहीं है. आरआरटी की संख्या में तीन से चार गुना बढ़ोतरी के लिए विशेष कोशिश किए जाएं. कांटेक्ट ट्रेसिंग और बेहतर करने की आवश्यकता है.


UP का पहला कोरोनामुक्त जिला बना महोबा, सीएम योगी ने की खूब तारीफ

UP का पहला कोरोनामुक्त जिला बना महोबा, सीएम योगी ने की खूब तारीफ

जून माह के प्रारंभ से ही कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार घटते क्रम में आ रही थी। अंतत: 21 जून आते-आते यह संख्या शून्य पर पहुंच गई। इस तरह बुंदेलखंड में महोबा पहला जनपद बन गया जहां कोरोना का एक भी केस नहीं बचा। बुंदेलखंड के जिले की इस उपलब्धि पर मुख्यमंत्री याेगी आदित्यनाथ ने जिला प्रशासन को बधाई दी है।

प्रतिदिन हो रहीं 1300 से अधिक जांच: सोमवार को जिले में कोरोना का एक भी सक्रिय मरीज नहीं शेष रहा। सीएमओ डा. एमके सिन्हा ने बताया कि इस समय रोजाना 1300 से अधिक जांच हो रही हैं। जिले में पहला कोरोना केस बीते साल एक मई को मिला था। सबसे पहले जिला अस्पताल के दो कर्मचारी संक्रमित मिले थे। जिले में संक्रमितों के इलाज के लिए पनवाड़ी, चरखारी, श्रीनगर में कोविड अस्पताल बनाए गए थे। स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने गांवों में लोगों को कोरोना से बचने के तरीके बताए।

प्रारंभ हुआ पायलट प्रोजेक्ट, 15 टीमें गठित: वैक्सीनेशन की गति बढ़ाने के लिए जुलाई से पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया जा रहा है। प्रोजेक्ट के तहत ब्लाकों में कलस्टर विभाजित कर टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा। कबरई ब्लाक से रविवार को इसकी शुरूआत हुई थी। यहां आठ गांवों में 18 साल से ऊपर के लोगों को टीका लगाया जाएगा। पायलट प्रोजेक्ट में सबसे पहले कबरई ब्लाक चुना गया है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. जीआर रत्मेले ने बताया कि कबरई के आठ गांवों में 21 व 22 जून को बूथ बनाकर टीकाकरण होगा। यहां 18 वर्ष से अधिक उम्र के 15051 लोगों को प्रतिरक्षित करने का लक्ष्य है। इन राजस्व गांव में 15 मोबीलाइजेशन टीमें बनाई गई हैं। जिसमें ग्राम प्रधान, लेखपाल, आशा, आंगनबाड़ी और प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक तथा पंचायत सचिव शामिल रहेंगे। कबरई ब्लाक के आठ गांवों में सुरहा, कौहारी, गहरा बबेड़ी, बम्हौरी काजी, बघारी, धरौन व उटियां शामिल हैं।

क्या बोले सीएम योगी:  लखनऊ में कोविड-19 प्रबंधन के लिए गठित टीम- 09 के साथ बैठक करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि महोबा में आज एक भी संक्रमित मरीज नहीं है। अब तक कोरोना संक्रमित हुए सभी मरीज उपचारित होकर स्वस्थ हो चुके हैं। इस उपलब्धि का श्रेय जिले  के जनप्रतिनिधियों, स्वास्थ्यकर्मियों, फ्रंटलाइन वर्करों, निगरानी समितियों, स्थानीय प्रशासन सहित सभी जनपद के लोगों को जाता है। मुख्यमंत्री ने सभी को बधाई देते हुए कहा कि संयम और जागरुकता का यह क्रम सतत बना रहे। उन्होंने कहा कि जनपद महोबा की यह उपलब्धि अन्य जनपदों के लिए प्रेरणास्पद है। अगले एक सप्ताह तक अगर जिले में संक्रमण का कोई केस नहीं मिलता है, तो जनपद को पुरस्कृत किया जाएगा। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि जिले में एग्रेसिव टेस्टिंग जारी रखी जाए। टेस्ट में कोई कमी न हो।  


बिजली के खंभे के पास नहीं करें कोई काम, रिपेयरिंग के चक्‍कर में चली गई कैमूर के युवक की जान       आंधी-तूफान से धराशाई हो गए मिट्टी और फूस के बने गई घर, नवादा में पेड़-पौधों को भी पहुंचा नुकसान       बिहार में शिक्षकों के तबादले की तैयारी, जुलाई के पहले सप्ताह में जारी होगा शेड्यूल       रेल यात्रियों के लिए राहत भरी खबर, बिहार में सात जोड़ी ट्रेनों का परिचालन 24 से होगा शुरू       फतेहपुर का 'श्याम' उत्तराखंड में कैसे बना 'उमर', यहां जानिए- पूरी प्रोफाइल       UP का पहला कोरोनामुक्त जिला बना महोबा, सीएम योगी ने की खूब तारीफ       उमर गौतम की गिरफ्तारी पर रिश्तेदारों ने दी प्रतिक्रिया, कहा...       कमरे में बंद कर बच्ची को दिखा रहा था अश्लील फिल्म, कर रहा था गंदी बात       गोरखपुर में फेरी लगाकर बेचते थे स्मैक, पुलिस ने पकड़ा, जानें       तीन साल बीत गए, अभी तक वातानुकूलित नहीं हुए स्टेशन प्रबंधकों के दफ्तर       श्रावस्ती में च‍िलच‍िलाती धूप में बैंक के सामने लेटा वृद्ध, अपने पैसों के ल‍िए आठ माह से लगा रहा था चक्‍कर       बीटेक, बीसीए अंतिम सेमेस्टर परीक्षाओं की त‍िथ‍ि घोष‍ित, जान‍िए क्‍या है पूरा शिड्यूल       बहराइच के कतर्नियाघाट में हाथी का उपद्रव, दो मकान को किया क्षतिग्रस्त-लोगों ने भागकर बचाई जान       रोबोट-ड्रोन जैसे यंत्र बनाना सीख जुड़े रोजगार से, राजकीय इंजीनियरिंग कालेज अंबेडकरनगर देगा न‍िश्‍शुल्‍क प्रश‍िक्षण       क्रिकेट मैदान की भांति सुखाई जा रही नींव, ढलाई का एक चौथाई कार्य पूरा       शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के सदस्य वसीम रिजवी पर दुष्कर्म का आरोप, लखनऊ में ड्राइवर की पत्नी ने दी तहरीर       दारोगा भर्ती के आवेदकों के लिए जरूरी सूचना, रजिस्टर्ड अभ्यर्थियों मिला अतिरिक्त मौका       सरकारी विभागों में रिक्त पदों को भरने की तैयारी तेज, भर्ती आयोग व बोर्ड अध्यक्षों की क्लास लेंगे सीएम योगी       न्यायमूर्ति एमएन भंडारी इलाहाबाद हाई कोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश नियुक्त       कोर कमेटी का 2022 में जीत को लेकर मंथन, बीएस संतोष के साथ CM योगी मौजूद