सीएम योगी ने दिए निर्देश, कहा- गांव हो या शहर, रात में नहीं कटेगी बिजली

सीएम योगी ने दिए निर्देश, कहा- गांव हो या शहर, रात में नहीं कटेगी बिजली

लखनऊ यूपी में कोयले (Coals) की कमी से पैदा हुआ बिजली संकट (Electricity Crisis) बढ़ता ही जा रहा है इसी कड़ी में सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने प्रदेश में कोयले की किल्लत की आशंकाओं के बीच बिजली विभाग की मीटिंग की है मुख्यमंत्री योगी ने ऑफिसरों को आदेश देते हुए बोला है कि गांव हो या शहर प्रदेश में रात में बिजली नहीं कटेगी उन्होंने बोला कि यदि आवश्यकता है बिजली विभाग अलावा बिजली खरीदें मुख्यमंत्री ने ओवरबिलिंग, फेक बिलिंग पर भी कठोर रुख अपनाया है उन्होंने बोला कि ऐसा करने वाले एजेंसियों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की जानी चाहिए

सीएम योगी ने विजिलेंस की टीम को भी आदेश दिया है कि विजिलेंस ऑफिसर अनावश्यक रूप से किसी भी उपभोगता को परेशान न करें बिजली मीटर की समस्या पर बोलते हुए आदेश दिया है कि वैसे मीटर जिससे गलत रीडिंग आ रही है, ऐसे मीटर बनाने वाली एजेंसी को करें ब्लैक लिस्ट किया जाए बता दें कि यूपी राज्‍य विद्युत निगम की सबसे बड़ी अनपरा परियोजना में कोयले का स्‍टॉक रोजाना 10 हजार टन कम हो रहा है कोयले की आपूर्ति जल्द ही सामान्य न हुई तो पूरा प्रदेश बिजली संकट की चपेट में आ सकता है स्थिति को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्रीय कोयला मंत्री को पत्र भेजकर उत्तर प्रदेश को अलावा बिजली मौजूद कराने और कोयले की आपूर्ति सामान्य कराने का निवेदन किया है

ग्रामीण इलाकों से लेकर शहरों तक में जबरदस्त बिजली कटौती हो रही है, जिसके कारण कंज़्यूमर प्रदर्शन कर रहे है हरदुआगंज और पारीछा में कोयले का स्टॉक लगभग खत्म हो गया है जबकि अनपरा में दो और ओबरा में ढाई दिन का कोयला शेष बचा है

कोयले का स्टॉक और प्रतिदिन की जरूरत
बिजली घर स्टॉक जरूरत
हरदुआगंज 4022 8000
पारीछा 9682 15000
अनपरा 86426 40000
ओबरा 42433 16000
(आंकड़े मीट्रिक टन में, अनपरा से मिली जानकारी के अनुसार, इकाइयों को कम क्षमता पर चलाने की वजह से परिचालन में कोयले और ईंधन की खपत बढ़ गई है इससे परियोजनाओं पर दोहरी मार पड़ रही है )


अखिलेश यादव की गणित सेट, जानिए कैसे जीतेंगे 300 से अधिक विधानसभा सीटों पर चुनाव

अखिलेश यादव की गणित सेट, जानिए कैसे जीतेंगे 300 से अधिक विधानसभा सीटों पर चुनाव

उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में 400 से अधिक सीट जीतने का दावा करने वाले समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 300 से अधिक सीट जीतने का गणित सेट कर लिया है। बहुजन समाज पार्टी के नेताओं को समाजवादी पार्टी में शामिल कराने के बाद अब अखिलेश यादव की निगाह भारतीय जनता पार्टी के बागी विधायक तथा अन्य नेताओं पर है।

लखनऊ में रविवार को बहुजन समाज पार्टी के कई बड़े नेताओं को समाजवादी पार्टी की सदस्यता दिलाने के कार्यक्रम में अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को लेकर भी अपना पत्ता खोल दिया। उन्होंने मीडिया से कहा कि सुनने में आया है कि विधानसभा चुनाव 2022 के लिए भारतीय जनता पार्टी अपने 150 विधायकों के टिकट काटने जा रही है। इससे पहले भी भाजपा के सौ विधायक सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ विधानसभा में धरना पर बैठे थे। यह तो 250 हो गए। हमारे पास पहले से ही 50 विधायक हैं। उन्होंने कहा कि इसी कारण हमारे पक्ष में गिनती अपने आप सेट होती जा रही है। हम 2022 में 300 से अधिक सीट जीतेंगे। 300 का आंकड़ा तो बन गया है, अब बाकी की तैयारी तेज है।

समाजवादी पार्टी के राज्य मुख्यालय में रविवार को बहुजन समाज पार्टी से सांसद रहे कादिर राणा के साथ बसपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। समाजवादी पार्टी की सदस्यता लेने के बाद आरएस कुशवाहा ने कहा कि प्रदेश में हमारे सभी समर्थक अब तो समाजवादी पार्टी के साथ हैं। पूरे प्रदेश से लोग हमारे साथ आए हैं। हम तो अपने समाज के लोगों को समाजवादी पार्टी से जोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि बसपा अपने मूल विचारों से भटक गई है। सभी पुराने नेता बसपा को छोड़कर सपा में आ रहे हैं।मुजफ्फरनगर से सांसद रहे कादिर राणा अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ समाजवादी पार्टी में शामिल हुए। इन सभी के साथ ही उत्तर प्रदेश के बड़े कर्मचारी नेता हरिकिशोर तिवारी भी समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रदेश अध्यक्ष कर्मचारी नेता हरि किशोर तिवारी समर्थकों के साथ सपा में शामिल हुए हैं।