10 जुलाई चातुर्मास, जानिए इन 4 राशियों पर रहेगी भगवान विष्णु की कृपा

10 जुलाई चातुर्मास, जानिए इन 4 राशियों पर रहेगी भगवान विष्णु की कृपा

अयोध्या चातुर्मास (Chaturmas) की आरंभ आषाढ़ माह की शुक्ल पक्ष की एकादशी यानी 10 जुलाई से हो रही है, जो कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तक रहेगा धार्मिक मान्यता है कि जगतपति भगवान विष्णु 4 महीनों तक क्षीरसागर में शयन करते हैं, जिसकी वजह से आनें वाले इन 4 महीनों तक कोई भी मांगलिक कार्य जैसे मुंडन संस्कार, विवाह, तिलक, यज्ञोपवीत आदि नहीं होते हैं ज्योतिषाचार्य के मुताबिक, 10 जुलाई से चातुर्मास आषाढ़ माह की शुक्ल पक्ष के एकादशी को लग रहा है यह चार माह अत्यंत पवित्र माने जाते हैं

इसके अतिरिक्त इस बार के चातुर्मास में 4 राशियों पर भगवान विष्णु की विशेष कृपा रहेगी चातुर्मास में सावन का माह भी आता है बड़े-बड़े संत मुनि ऋषि इस चतुर्मास में मुश्किल तपस्या भी करते हैं

जानिए इन 4 राशियों पर रहेगी भगवान विष्णु की कृपा
वृश्चिक राशि (Scorpio)- ज्योतिष के मुताबिक वृश्चिक राशि वालों पर चातुर्मास में भगवान विष्णु की विशेष कृपा रहेगी जो किसी वरदान से कम नहीं साबित होगी व्यापार और जॉब करने वालों को कामयाबी मिलेगी व्यापार में अचानक आर्थिक फायदा प्राप्त होगा और परिवार में खुशी का माहौल बना रहेगा

मेष राशि (Aries)- मेष राशि के जातकों के लिए चातुर्मास बहुत शुभ रहने वाला है इस समय मेष राशि वालों को अपने सभी कार्यों में अपार कामयाबी मिलेगी इस माह भगवान विष्णु की आराधना से भाग्य के दरवाजे खुल जाएंगे

धनुराशि (Sagittarius)- धनुराशि वालों के लिए चातुर्मास बहुत खास रहने वाला है इस दौरान अटके हुए सभी कार्य मंगलमय के साथ पूर्ण होंगे हालांकि जॉब पेशा लोगों को तरक्की के लिए इन्तजार करना पड़ सकता है

मीन राशि (Pisces)- ज्योतिष के मुताबिक मीन राशि के जातकों पर चातुर्मास अच्छा असर डालेगा कारोबार में धन फायदा का योग बन रहा है परिवार में मनमुटाव भी हो सकता है, इसलिए भगवान विष्णु की पूजा अर्चना जरूर करें

जानिए क्या होता है चातुर्मास
ज्योतिषाचार्य पंडित कल्कि राम बताते हैं कि आषाढ़ माह, श्रावण, भादो और कार्तिक माह तक भगवान विष्णु क्षीरसागर में शयन करते हैं इन 4 महीनों में सृष्टि की देखभाल भगवान शंकर करते हैं चतुर माशा का अर्थ होता है चार माह अनेक ग्रह गोचर की दृष्ट बदलती रहती है, इसलिए इन 4 महीनों में पवित्र कार्य नहीं होते हैं