स्वदेशी चिकित्सा को बढ़ावा देने वालों को किया प्रोत्साहित

स्वदेशी चिकित्सा को बढ़ावा देने वालों को किया प्रोत्साहित

यूनानी और आयुर्वेदिक तरिका ए उपचार को बढ़ावा देने और इसके प्रमोशन में लगे लोगों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से ‘रिफाकत ए यूनानी’ सम्मेलन का आयोजन किया गया. अंबाला रोड बैठक भवन में आयोजित सम्मेलन का आयोजन यूनानी और आयुर्वेदिक फूड प्रोडक्ट्स बनाने वाली कंपनी आयुरइनवेदा रेमेडीज प्राइवेट लिमिटेड द्वारा किया गया. सेंटर फॉर नरेंद्र मोदी स्टडीज के अध्यक्ष और जाने-माने पत्रकार डाक्टर जसीम मुहम्मद कार्यक्रम के मुख्य मेहमान रहे.

आयुर्वेदिक दवाइयों की गिनाई खुबियां

मुहम्मद शोएब अकरम ने इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए ‘रिफाकत ए यूनानी’ सम्मेलन के उद्देश्यों के बारे में बताया. उन्होंने ‘वेद में अयूर’ की स्थापना के उद्देश्य और महत्वाकांक्षी की व्याख्या की और इसके विभिन्न उत्पादों के गुणों का उल्लेख किया. उन्होंने बोला कि यूनानी चिकित्सा के आधुनिकीकरण और उसे नयी आवश्यकताओं के साथ जोड़ने में ‘आयुरइनवेदा’ सबसे आगे हैं. स्पार्क मार्केटिंग के संस्थापक सैयद समीर ने ‘चैलेंज ऑफ सेल्स’ शीर्षक से प्रेजेंटेशन दिया और ग्रीक मेडिसिन बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए कुछ टिप्स भी बताए.

विशिष्ट मेहमान डाक्टर जसीम मुहम्मद ने यूनानी चिकित्सा के प्रचार-प्रसार के लिए आयुरइनवेदा रेमेडीज प्राइवेट लिमिटेड में आयुरइनवेदा की पहल की सराहना की. विशेष रूप से मुहम्मद शोएब अकरम और जावेद रहमानी ने भी उनकी सेवाओं का उल्लेख किया. कारी अब्दुल कवी ने तिलावत ए कुरान के साथ कार्यक्रम की आरंभ की. न्यू अवामी फार्मेसी, सहारनपुर के सैयद मुनूर हैदर ने कार्यकृम में आए सभी महमानों को स्वागत किया. ‘आयुर इन वेदा’ के व्यवस्था निदेशक मुहम्मद जेद अकरम कार्यकृम में आए सभी महमानों का आभार व्यक्त किया. यूनानी और आयुर्वेदिक इलाज उपायों के प्रचार-प्रसार में लगे डॉक्टरों और फार्मासिस्टों की सेवाओं के लिए उन्हें सम्मानित किया गया और उनकी सेवा के लिए उपहार भेंट किए गए.