लखनऊ में इन प्रजाति के डॉग पर लग सकता है प्रतिबंध

लखनऊ में इन प्रजाति के डॉग पर लग सकता है प्रतिबंध
लखनऊ राजधानी लखनऊ में पिटबुल के अतिरिक्त मास्टिफ और रॉटविलर डॉग के पालने, बेचने और ब्रीडिंग सेंटर चलाने पर प्रतिबंध लग सकता है बीते माह कैसरबाग में पिटबुल के हमले में एक स्त्री की मृत्यु के बाद शासन ने इसे लेकर यह प्रस्ताव बनाया है इसके अतिरिक्त देसी कुत्तों के पालन को बढ़ावा देने का भी प्रस्ताव तैयार किया है इसमें लाइसेंस शुल्क माफ किए जाने की योजना भी शामिल है आवारा कुत्तों की बढ़ती जनसंख्या के प्रबंधन, रेबीज उन्मूलन, मानव और कुत्तों के संघर्ष में कमी लाने के लिए शासन ने 2018 में एक कमेटी बनाई थी

इस कमेटी को बेचने, पालने और ब्रीडिंग सेंटर चलाने के बिंदुओं को लेकर एक स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) तैयार करना है इसे लेकर 15 जुलाई को शासन में बैठक हुई इसमें मामला उठा कि विदेशी प्रजाति के कुत्तों के लिए भारतीय परिवेश अनुकूल नहीं होता है इसके कारण वे अधिक आक्रामक होते हैं ऐसे में चार विदेशी प्रजाति के कुत्तों (पिटबुल, रॉटविलर, हस्की और साइबेरियन हस्की) के नगर निगम क्षेत्र में पालने, बेचने और ब्रीडिंग सेंटर चलाने पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाया जाए चर्चा के बाद हस्की और साइबेरियन हस्की को प्रतिबंध से हटाकर मास्टिफ प्रजाति को शामिल किया गया ऐसे में पिटबुल, रॉटविलर और मास्टिफ प्रजाति के कुत्तों के पालने, बेचने और ब्रीडिंग सेंटर चलाने पर भी प्रतिबंध लग सकता है

देसी कुत्तों की लाइसेंस फीस होगी माफ
बैठक में देसी कुत्तों का लाइसेंस माफ करने का प्रस्ताव रखा गया साथ ही टीकाकरण और नसबंदी भी निःशुल्क करने का प्रस्ताव रखा गया यह भी बोला गया कि मन की बात कार्यक्रम में पीएम ने भी देसी कुत्तों की नस्ल को बढ़ावा देने पर जोर दिया है ऐसे में इसके लिए प्रचार-प्रसार भी किया जाए नगर निगम अन्य शहरों को देगा एनिमल बर्थ कंट्रोल की ट्रेनिंगआवारा कुत्तों की जनसंख्या को नियंत्रित करने के लिए नगर निगम एनिमल बर्थ कंट्रोल सेंटर (एबीसी) चलाता है

इन पशुओं को पालना है प्रतिबंधित
इंदिरा नगर स्थित नगर निगम के जरहरा श्वान केंद्र में यह सेंटर चलता है प्रदेश के अन्य शहरों में अभी ऐसे सेंटर नहीं चलते हैं ऐसे में अब उन शहरों के निकायों को यहां ट्रेनिंग दी जाएगी शहर में अभी भैंस, सुअर, बकरी, खच्चर, गधे आदि पशुओं के पालने पर प्रतिबंध है केवल गाय को पाल सकते हैं कोई भी आदमी नगर निगम से लाइसेंस लेकर केवल दो गाय ही पाल सकता है लखनऊ में 27 लोगों ने पिटवुल पालने का लाइसेंस ले रखा है, जबकि 178 लोगों के पास रॉटविलर कुत्ता है बता दें कि लखनऊ में पिछले महीने कैसरबाग के बंगाली टोला में एक पिटबुल ने अपने मालकिन को काटकर मार डाला था, उससे लोगों में काफी भय हो गयी