AMU में लगी मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पर फिर विवाद शुरू

AMU में लगी मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पर फिर विवाद शुरू

अलीगढ़ मुसलमान यूनिवर्सिटी यानी AMU में लगी मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पर फिर टकराव प्रारम्भ हो गया है. अलीगढ़ के समाजसेवी हिंदूवादी केशवदेव ने प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी को चिठ्‌ठी लिखकर यह तस्वीर पाक भेजने की मांग की है. वह विधानसभा चुनाव में भी दावेदारी कर चुके हैं.

उन्होंने लिखा है कि 2019 के चुनाव के पहले अलीगढ़ के सांसद सतीश गौतम ने बोला था कि जीतने के बाद वह जिन्ना की तस्वीर को पाक भेज देंगे. मगर, लोकसभा चुनाव समाप्त हुए तीन वर्ष बीत चुके हैं और उन्होंने अपनी बात पर अमल नहीं किया है.बीजेपी सांसद सतीश गौतम.

अलीगढ़ से बीजेपी सांसद सतीश गौतम.

सांसद ने बोला था, AMU से हटेगी तस्वीर
पं केशवदेव ने कहा, ”चुनाव से पहले सांसद सतीश गौतम ने AMU में पाक के जनक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर का जमकर विरोध किया था. उन्होंने उस समय बोला था कि यदि उनकी जीत होगी, तो वह जिन्ना की तस्वीर को हटवाकर रहेंगे.” इतना ही नहीं एएमयू से जिन्ना की तस्वीर हटाने के बाद वह उसे पाक भेज देंगे. मगर, अब उन्हें जनता से किए अपने वादों का ही ध्यान नहीं है.” उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी से बोला कि वह सांसद सतीश गौतम को उनकी बात याद दिलाएं और जिन्ना की तस्वीर को पाक भेजा जाए.

एएमयू में 20% आरक्षण की भी मांग
पीएम को लिखे गए पत्र में हिंदूवादी ने यह भी बोला कि सांसद सतीश गौतम ने लोगों से यह वादा किया था कि वह AMU के अंदर 20% की आरक्षण नीति लागू करेंगे. जिससे हिंदू समाज के लोगों को सरलता से यूनिवर्सिटी में प्रवेश मिले.

ऐसा इसलिए, क्योंकि AMU में गैर मुसलमान समाज के लोगों के प्रवेश में काफी दिक्कतें आती हैं. मगर, अभी तक जनता से किया यह वादा भी पूरा नहीं हो सका है. पं केशवदेव ने बोला कि AMU के अंदर आरक्षण नीति को भी शीघ्र से शीघ्र लागू किया जाए. जिससे आम विद्यार्थियों को राहत मिल सके.