देश का सर्वश्रेष्ठ हॉस्टल का पुरस्कार मिला जाेधपुर के मुस्टैश हॉस्टल काे, जाने क्यों

देश का सर्वश्रेष्ठ हॉस्टल का पुरस्कार मिला जाेधपुर के मुस्टैश हॉस्टल काे, जाने क्यों

जाेधपुर के मुस्टैश हॉस्टल काे देश का सर्वश्रेष्ठ हॉस्टल का पुरस्कार दिया गया है. यह पुरस्कार अंतर्राष्ट्रीय पर्यटकों के बीच लोकप्रिय पोर्टल हॉस्टल वर्ल्ड डॉट काॅम ने दिया है. अमेरिका में आयोजित 18वें हॉस्टल पुरस्कार समारोह में करीब 12 भिन्न-भिन्न कैटेगरी में पुरस्कार बांटे गए. इनमें कंट्री कैटेगरी में जोधपुर की मुस्टैश हॉस्टल चेन काे हिंदुस्तान का बेस्ट हॉस्टल चुना गया.

न्यूयॉर्क टाइम्स की ओर से हाल में जोधपुर को संसार का 12वां टॉप डेस्टिनेशन माना गया है. यहां की ब्ल्यू सिटी, ऐतिहासिक प्रतीक, परंपरागत लाख चूड़ी, मसाला, मिठाइयां आदि पर्यटकों को खूब पसंद आती हैं. अब एक ट्रेवलर पोर्टल ने शिप हाउस किला रोड स्थित मुस्टैश हॉस्टल चेन काे सर्वश्रेष्ठ माना है, जिसने बेहद कम समय में विदेशी पर्यटकों के बीच अपनी पहचान बनाई है.

किस-किस कैटेगरी में मिलते हैं पुरस्कार
हॉस्टल वर्ल्ड डॉट कॉम की ओर से सोलो ट्रेवलर, फिमेल सोलो, मेल सोलो, बेस्ट न्यू हॉस्टल, मोस्ट पाॅपुलर, रेटिंग क्राइटेरिया, कंट्री साइज- स्मॉल, मीडियम, लार्ज, ज्यादा लार्ज, कॉन्टिनेंट, एशिया, यूरोप, अफ्रीका, नॉर्थ अमेरिका व अदर विनर्स-हॉस्टल चेन कैटेगरी.


1.1 मिलियन टूरिस्ट के कमेंट्स के आधार पर चुना
यूं तो हिंदुस्तान में कई देसी व विदेशी हॉस्टल की चेन चल रही है. कई युवा इस स्टार्टअप बिजनेस से जुड़े हैं, लेकिन कंट्री कैटेगरी में इंडिया से केवल मुस्टैश जोधपुर हॉस्टल को ही चुना गया. यह पोर्टल दुनियाभर के पर्यटकों की ओर से दिए जाने वाली राय, कमेंट्स को आधार बनाता है, जो पर्यटक अपने दोस्तों के साथ या अकेले घूमने जाते हैं व जिस शहर में रहते हैं, वहां की खासियतें, बुरे अनुभव, यादगार पल व सर्विस को लेकर जो राय या समीक्षा देते हैं. उसके आधार पर चयन किया जाता है. पोर्टल ने 1.1 मिलियन टूरिस्ट की समीक्षा के आधार पर पुरस्कारों की घोषणा की है.

मुस्टैश की खासियतें
मेहरानगढ़ जाने वाली मुख्य सड़क पर शिप हाउस के समीप यह हॉस्टल है. 48 बेड हैं, जहां टूरिस्ट रहते हैं. सामने मस्जिद व पास में मंदिर. पर्यटकों की हिंदुस्तान की यही विभिन्नता पसंद आती है. दिनभर यहां अजान और घंटियों की आवाज आती है. नेट से लेकर फूड, बेड से लेकर क्लीनिंग आकर्षित करती है. आईटीबीपी के रिटायर्ड डीआईजी डाक्टर जीआर चौधरी व विक्रम मिलकर हॉस्टल चला रहे हैं. यह चेन जयपुर बेस्ड हॉस्टल की है.