सपा की नहीं भाजपा की सरकार है : संगीत सोम

सपा की नहीं भाजपा की सरकार है : संगीत सोम

मेरठ के ब्रहमपुरी क्षेत्र में झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले 400 लोगों के धर्मपरिवर्तन मुद्दे में मेरठ पुलिस ने 8 नामजद आरोपियों को अरेस्ट कर लिया है. दिल्ली निवासी एक आरोपी की तलाश में अपराध शाखा भेजी गई है.

वहीं इस मुद्दे में रविवार को बीजेपी के फायर ब्रांड नेता और सरधना के पूर्व विधायक संगीत सोम ने बयान देते हुए बोला कि धर्म बदलाव के मुद्दे में मेरी ऑफिसरों से बात हो रही है. जो नामजद आरोपी हैं उन्हें अरैस्ट किया जा रहा है. यह मामला इंटरनेशनल से जुड़ा हुआ है.

सपा की गवर्नमेंट नहीं बीजेपी की गवर्नमेंट है

संगीत सोम ने बोला कि धर्म बदलाव के मुद्दे में बड़ी कार्रवाई हो रही है. पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है. यह समाजवादी पार्टी की गवर्नमेंट नहीं है, यह समाजवादी पार्टी गवर्नमेंट तो है नहीं जो धर्म बदलाव कराने वालों को संरक्षण देती थी. अब बीजेपी की गवर्नमेंट है. इसमें ऐसी कार्रवाई होगी कि दोबारा से यूपी में कोई धर्म बदलाव की प्रयास करेगा भी नहीं है. उन्होंने आगे बोलते हुए बोला कि यह यहीं का मामला नहीं है, यह इंटरनेशनल मामला है. यह बाहर तक जुड़ा हुआ मामला है.

रासुका लगाने की मांग

संगीत सोम ने मांग करते हुए बोला जिन लोगों ने यह मामला किया है. कुछ लोगों का धर्म बदलाव हुआ है. पूर्व विधायक ने बोला कि इसमें चाहे कोई पादरी हो या कोई भी हो. कोई कितना भी भाग ले, लेकिन बचेगा नहीं है. इसमें रासुका लगनी चाहिए और रासुका लगेगी भी.

9 लोगों के विरूद्ध दर्ज हुआ मुकदमा

मेरठ में तीन दिन पहले बीजेपी नेता दीपक शर्मा मंगतपुरम के कुछ लोगों को लेकर एसएसपी से मिले. जिसमें बोला की लॉकडाउन् में कुछ लोगों ने राशन, भाेजन और अन्य सहायता करने के बाहने धर्म बदलाव कराया. आरोपी लोग चर्च ले जाने लगे और वहां ईसा मसीह को मानने की बात कहकर धर्म बदलाव कराया. इसमें दिल्ली का एक पादरी भी शामिल है.

पीड़ित लोगों ने पुलिस से बोला कि हमें पता नहीं था, अब दिवाली पर बोला कि तुम दिवाली नहीं मना सकते, अब तुम हिंदू नहीं हो हमारे ईसा मसीह की प्रार्थना करो. जिसके बाद ब्रहमपुरी थाने में छबीली उर्फ शिवा, बिनवा, अनिल, सरदार, निक्कु, बसंत, प्रेमा,तितली, रीवा के विरूद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है. इनमें पुलिस ने 8 आरोपियों को अरेस्ट कर लिया है.