युवाओं के विरोध को लेकर की जा रही चेकिंग के चलते बॉर्डर पर लगा था लंबा जाम

युवाओं के विरोध को लेकर की जा रही चेकिंग के चलते बॉर्डर पर लगा था लंबा जाम

गाजियाबाद के मोदीनगर में अग्निपथ योजना के विरोध में भड़की हिंसा का पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. पुलिस ने बताया कि केन्द्र गवर्नमेंट की अग्निपथ योजना को लेकर युवाओं को भड़काने की षड्यंत्र में छुट्टी पर आए फौजी का नाम सामने आया है. फौजी ने अपने भाई के साथ मिलकर गांव में युवाओं को इकट्‌ठा कर उन्हें उकसाया था. इसके अलावा, सेना भर्ती में विफल युव‌कों ने भी पंचायत कर युवाओं को उकसाया था. लगातार दो दिन तक सैदपुर और प्रथमगढ़ में पंचायत भी हुई थी.

डीएमई पर पहुंचे युवा पुलिस देख वापस लौटे
युवाओं ने गत सोमवार को डीएमई पर जाम लगाने का कोशिश किया था. पुलिस प्रशासन की सतर्कता के चलते आंदोलन सफल नहीं हो पाया था. पुलिस ने फौजी और उसके भाई सहित कई लोगों के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज कर उनकी तलाश प्रारम्भ कर दी है. ​​​​​​​बता दें कि अग्निपथ योजना के विरोध में युवाओं ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर भोजपुर के चुड़ियाला क्षेत्र में गत सोमवार को जाम लगाने का कोशिश किया था. दर्जनों की संख्या में युवा डीएमई पर पहुंचे, मगर वहां पुलिस की मौजूदगी के चलते युवा नारेबाजी करते हुए वापस लौट गए.

युवाओं को गलत जानकारी देकर उकसाया गया
पुलिस जांच में सामने आया कि 19 और 20 जून को गांव प्रथमगढ़ और सैदपुर में पंचायतें हुईं, जिसमें ‌अग्निपथ योजना के बारे में युवाओं को गलत जानकारी देकर उन्हें गुमराह किया गया और योजना के विरोध में आंदोलन करने के लिए उकसाया गया था. इसमें छुट्टी पर आए एक फौजी की मुख्य किरदार सामने आई. युवाओं को उकसाने के ‌मामले में सेना भर्ती में विफल पुरुष भी शामिल रहे. पुलिस को इससे संबंधित कुछ वीडियो हाथ लगे हैं, जिसमें युवाओं को उकसाने की बात की जा रही है.

सीओ ने कहा- जल्द अरैस्ट होंगे आरोपी
सीओ सुनील कुमार सिंह का बोलना है कुछ लोगों ने अग्निपथ योजना के विरोध में गांव सैदपुर और प्रथमगढ़ में पंचायत कर युवाओं का उकसाया. पुलिस को इससे संबंधित साक्ष्य मिले हैं. उकसाने वालों के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज की गई है. इसमें छुट्टी पर आया सेना का एक जवान और उसका भाई भी शामिल है. उसके विरूद्ध भी रिपोर्ट दर्ज की गई है. आरोपी को पकड़ने के लिए दबिश दी गई, मगर वह फरार हो चुका था. सीओ ने बोला कि आरोपियों को जल्द अरैस्ट कर लिया जाएगा.


मथुरा में लव जिहाद का एक मामला आया सामने

मथुरा में लव जिहाद का एक मामला आया सामने

 यूपी के मथुरा में लव जिहाद (Love jihad) का एक मामला सामने आया है यहां पर समुदाय विशेष के एक पुरुष पर आरोप लगा है कि उसने हिंदू नाबालिग लड़की को प्रेम जाल में फंसाकर उससे 3 महीने तक बलात्कार किया पुलिस ने आरोपी को अरैस्ट कर लिया है जहां पुलिस की टीम उससे पूछताछ में जुटी है दरअसल मथुरा के थाना जमुनापार क्षेत्र के रहने वाले मौसिम कुरेशी नाम के पुरुष ने पड़ोस में रहने वाली 15 वर्षीय नाबालिग किशोरी को बहला-फुसलाकर अपने प्रेम जाल में फंसा लिया और 3 महीने तक उसे घर में कैद कर उसका मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न किया वहीं, पीड़ित परिवार की थाना जमुनापार में सुनवाई भी नहीं हुई

अब चार महीने बाद मामला एसएसपी के संज्ञान में आया तो एसएसपी डाक्टर गौरव ग्रोवर ने केस दर्ज करने के आदेश दिए थाना जमुनापार में आरोपी मौसिम कुरैशी और उसके परिजनों के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज हुई है आरोप है कि मथुरा के जमुनापार क्षेत्र के एक गांव में 15 वर्ष की लड़की को तीन महीने तक घर में कैद करके रखा गया उसका धर्म बदलाव कर शारीरिक उत्पीड़न किया गया वहीं, यह भी आरोप है कि जब पीड़ित लड़की तहरीर देने पुलिस के पास पहुंची तो पुलिस ने उसे ही धमका दियापीड़िता की विधवा मां जब बेटी को आरोपी के घर से लेने जाती, तो उसे डरा धमका कर भगा दिया जाता मामला एसएसपी के संज्ञान में आने के बाद उनके आदेश पर अब जमुनापार थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है

पीड़िता को पहुंची कानपुर नारी निकेतन
मां का बोलना है कि उसे यह बताया जाता था कि मौसिम ने उसकी बेटी से विवाह कर लिया है पीड़िता की मां लगातार न्याय के लिए ऑफिसरों के दरवाजे खटखटा रही थी, लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हुई आरोपी ने कुछ पुलिसवालों के साथ मिलकर नाबालिग पीड़िता को मथुरा से दूर कानपुर नारी निकेतन भिजवा दिया पीड़िता और उसकी मां ने बताया कि लगातार आरोपी मौसिम धर्म बदलाव करने का दबाव बना रहा था वहीं, यह भी बताया गया कि आरोपी का नशीला पदार्थों की बिक्री का बड़ा गैर कानूनी कारोबार है मामले में पुलिस ने बहला फुसलाकर भगा ले जाने की धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है किशोरी का मेडिकल कराकर धारा 164 के अनुसार बयान दर्ज कराए जाएंगे