अभियान चलाकर नालों के ऊपर अवैध बनाई गई रैंप जल्द टूटेगी

अभियान चलाकर नालों के ऊपर अवैध बनाई गई रैंप जल्द टूटेगी

मानसून से पहले कानपुर में चल रही नाला सफाई की नज़र ड्रोन से कराई जाएगी. नाला-नाली की सफाई के बाद ड्रोन और कैमरों से वीडियोग्राफी भी जरूरी रूप से होगी. गुरुवार को इसके निर्देश नगर आयुक्त शिवशरणप्पा जीएन ने निरीक्षण के दौरान दिए. नालों के ऊपर गैर कानूनी ढंग से बनाई गई रैंप को पूरे शहर में नगर निगम अभियान चलाकर तोड़ेगा, जिससे कि नाला सफाई में कहीं अड़चन न आए.

30 हजार रुपए वसूला जुर्माना
सड़क पर निर्माण सामग्री फैलाने वालों पर नगर निगम ने कार्रवाई की. गुरुवार को नगर आयुक्त शिवशरणप्पा जीएन तात्याटोपे नगर का निरीक्षण कर रहे थे. इस दौरान सड़क तक निर्माण सामग्री फैलाकर निर्माण किया जा रहा था. इस पर नगर आयुक्त ने 3 लोगों पर जुर्माना लगाया और कुल 30 हजार रुपए यूजर चार्ज वसूला.

सफाई में ढिलाई पर कार्रवाई
निरीक्षण के दौरान पनकी औद्योगिक क्षेत्र में कई स्थानों पर गन्दगी मिली. झाड़ू भी नहीं लगाई गई थी. इस पर नगर आयुक्त ने सफाई निरीक्षक अश्वनी कुमार को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. जोनल स्वच्छता अधिकारी को कड़े निर्देश दिए कि दोबारा ऐसी स्थिति नहीं होनी चाहिए.

नाला सफाई के लिए तोड़ी रैंप
किदवई नगर वाई ब्लाक RBI नाले की सफाई के दौरान एक स्थान पर काफी संख्या में लोगों ने रैंप बना लिए थे. इससे नाला सफाई नहीं हो पा रही थी. वाई ब्लाक के बाहर स्लैब के ऊपर से डाली गयी रैम्प को नगर निगम ने तोड़ने की कार्यवाही प्रारम्भ की.

नाला सफाई के दौरान यहां से काफी संख्या में सिल्ट निकली. वहीं नगर आयुक्त ने पूरे शहर में नाला सफाई में रोड़ा बने रैंप को तोड़कर सफाई करने के कड़े निर्देश दिए हैं


ओपी राजभर ने गिनाईं योगी जी के 100 दिन की उपलब्धियां

ओपी राजभर ने गिनाईं योगी जी के 100 दिन की उपलब्धियां

सुभासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर अपने बयानों को लेकर चर्चा में बने रहते हैं. आजमगढ़-रामपुर में समाजवादी पार्टी की हार के बाद उनके सुर सत्ताधारी नेताओं जैसे की तरह निकलने लगे. सीधे अखिलेश यादव पर ही निशाना साध दिया. अब योगी गवर्नमेंट के सौ दिन पूरे होने पर अपने ही ढंग से उपलब्धियां गिनाई हैं.

राजभर ने यह भी बोला कि 2024 आम चुनाव में फिर से सब इकट्ठा नजर आएंगे और बड़ा खेल होगा. अखिलेश यादव ही हमारा इंजन होंगे. उन्हीं के नेतृत्व में लोकसभा का चुनाव लड़ा जाएगा. प्रदेश की जनता आम चुनाव में बीजेपी को सबक सिखाने के लिए तैयार बैठी है.

सोमवार को लखनऊ में मीडिया से वार्ता में राजभर ने योगी गवर्नमेंट के 100 दिन के काम पर प्रश्न खड़े किए बोला कि 100 दिन में गवर्नमेंट एक काम बता दें. इन 100 दिनों में सत्ताधारी दल ने प्रत्येक दिन नफरत की भाषा बोलने का काम किया है. गरीबों को शिक्षा, रोजगार से नहीं जोड़ा जा रहा है. उन्हें निःशुल्क का अनाज देकर कामचोर बनाया जा रहा है.

आरोप लगाया कि प्रदेश गवर्नमेंट मानती है कि विधानसभा चुनाव में राज्य कर्मचारियों ने बीजेपी को वोट नहीं दिया है. जिसकी वजह से जनवरी महीने का उनका महंगाई भत्ता अभी तक नहीं दिया गया है, जबकि केंद्र गवर्नमेंट ने अपने कर्मचारियों को यह भत्ता मार्च महीने में ही दे दिया है. 

प्रदेश गवर्नमेंट की 100 दिन की उपलब्धियां यह है कि थाना, ब्लाक, तहसील हर स्थान अधिकारी काम के लिए पैसे मांग रहे हैं. छुआछुत के कारण दलित का बेटा सामान देने पहुंचता है तो लखनऊ में उसके साथ कैसा व्यवहार होता है सबने देखा है.

कहा कि आरोपियों के विरूद्ध अभी कोई कार्रवाई नहीं की गई. उन्होंने प्रदेश गवर्नमेंट से प्रश्न किया है कि राजधानी लखनऊ में एक काम बता दें जो उन्होंने पूरा किया है. राजधानी में कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बीएसपी के ही काम दिखते हैं.