अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन से सहमे हजारों रेल यात्री

अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन से सहमे हजारों रेल यात्री

प्रयागराज सेना भर्ती की अग्निपथ योजना को लेकर प्रारम्भ हुए विरोध प्रदर्शनों के चलते रेल यात्रियों की मुश्किलें बढ़ गई हैं गर्मी की छुट्टी में घूमने और दर्शनीय स्थलों पर दर्शन जाने वाले रेल यात्रियों को प्रदर्शनों के चलते यात्रा रोकनी पड़ रही है ट्रेनों में हुई तोड़फोड़ और ट्रेनों के कैंसल होने की वजह से बड़ी संख्या में लोग टिकट कैंसल करा रहे हैं पूरी तरह से आंदोलन के खत्म ना होने की वजह से लोग अभी भी लगातार टिकट कैंसिल करा रहे हैं अब तक हजारों यात्रियों ने करोड़ों का टिकट रिफंड कराया है 17 जून को प्रारम्भ हुई हिंसा के बाद टिकट कैंसिलेशन का सिलसिला अभी तक जारी है इस बीच रेलवे को भी विद्रोहियों द्वारा रेलगाड़ियों और स्टेशनों पर तोड़फोड़ और आगजनी से काफी हानि हो चुका है

सेना भर्ती के लिए अग्निपथ योजना के विरोध में 17 जून से प्रारम्भ हुए आंदोलन के चलते अब तक पांच दिनों में उत्तर मध्य रेलवे के क्षेत्र से गुजरने वाली सवा दो सौ ट्रेनें खारिज हुई हैं ट्रेनों के खारिज होने से बड़ी संख्या में यात्री भी टिकट कैंसल करा रहे हैं नार्थ सेंट्रल रेलवे के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी डॉ अमित मालवीय के अनुसार यात्रियों को टिकट कैंसिलेशन पर फुल रिफंड दिया जाता है यात्रियों को टिकट कैंसिलेशन और रिफंड लेने में कोई परेशानी और कठिनाई ना हो इसके लिए प्रमुख स्टेशनों पर हेल्पडेस्क बनाई गई है

इन स्टेशनों पर यात्रियों के लिए हेल्प डेस्क
उनके अनुसार प्रयागराज, आगरा, झांसी आदि स्टेशनों पर यात्रियों की सुविधा के लिए हेल्प डेस्क खोले गए हैं इन पर तैनात रेल कर्मचारी यात्रियों को रिफंड लेने में सहायता करते हैं इसके साथ ही साथ दूसरी ट्रेनों की जानकारी भी देते हैं वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी डॉ अमित मालवीय के अनुसार अग्निपथ योजना को लेकर विरोध प्रदर्शनों के चलते रेलवे स्टेशनों की भी सुरक्षा बढ़ाई गई है रेलवे स्टेशनों पर जीआरपी और आरपीएफ के साथ ही सिविल पुलिस और पीएसी की भी तैनाती की गई है स्टेशनों पर पुलिस की गश्त जारी है और फ्लैग मार्च भी किया जा रहा है, ताकि किसी अराजक स्थिति का कोई सामना ना करना पड़े

अधिकारी कहे धीरे धीरे सामान्य हो रहा ट्रेक
वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी के अनुसार ट्रेनों का परिचालन धीरे-धीरे सामान्य हो रहा है उन्होंने रेल यात्रियों और आम लोगों से अपील की है कि ऐसे किसी आंदोलन में शामिल ना हो उन्होंने बोला है कि रेल की संपत्ति को जब हानि होता है,तो यह हम सब की और देश की संपत्ति की क्षति होती है इसको किसी तरह के हानि से हम सब को नुकसान होती है वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी डॉ अमित मालवीय के अनुसार ट्रेनों में तोड़फोड़ और आगजनी के लिए जो भी लोग उत्तरदायी हैं, वीडियो फुटेज के आधार पर उनके विरूद्ध मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं उनकी गिरफ्तारी भी हो रही है उनके अनुसार नार्थ सेंट्रल रेलवे के यूपी के भीतर कोई खास तानाशाही नहीं हुई है उन्होंने बताया है कि वाराणसी से चेन्नई के लिए एक विशेष ट्रेन भी चलाई जा रही है ताकि जो फंसे हुए यात्री हैं वह अपने गंतव्य तक पहुंच सकें


मथुरा में लव जिहाद का एक मामला आया सामने

मथुरा में लव जिहाद का एक मामला आया सामने

 यूपी के मथुरा में लव जिहाद (Love jihad) का एक मामला सामने आया है यहां पर समुदाय विशेष के एक पुरुष पर आरोप लगा है कि उसने हिंदू नाबालिग लड़की को प्रेम जाल में फंसाकर उससे 3 महीने तक बलात्कार किया पुलिस ने आरोपी को अरैस्ट कर लिया है जहां पुलिस की टीम उससे पूछताछ में जुटी है दरअसल मथुरा के थाना जमुनापार क्षेत्र के रहने वाले मौसिम कुरेशी नाम के पुरुष ने पड़ोस में रहने वाली 15 वर्षीय नाबालिग किशोरी को बहला-फुसलाकर अपने प्रेम जाल में फंसा लिया और 3 महीने तक उसे घर में कैद कर उसका मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न किया वहीं, पीड़ित परिवार की थाना जमुनापार में सुनवाई भी नहीं हुई

अब चार महीने बाद मामला एसएसपी के संज्ञान में आया तो एसएसपी डाक्टर गौरव ग्रोवर ने केस दर्ज करने के आदेश दिए थाना जमुनापार में आरोपी मौसिम कुरैशी और उसके परिजनों के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज हुई है आरोप है कि मथुरा के जमुनापार क्षेत्र के एक गांव में 15 वर्ष की लड़की को तीन महीने तक घर में कैद करके रखा गया उसका धर्म बदलाव कर शारीरिक उत्पीड़न किया गया वहीं, यह भी आरोप है कि जब पीड़ित लड़की तहरीर देने पुलिस के पास पहुंची तो पुलिस ने उसे ही धमका दियापीड़िता की विधवा मां जब बेटी को आरोपी के घर से लेने जाती, तो उसे डरा धमका कर भगा दिया जाता मामला एसएसपी के संज्ञान में आने के बाद उनके आदेश पर अब जमुनापार थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है

पीड़िता को पहुंची कानपुर नारी निकेतन
मां का बोलना है कि उसे यह बताया जाता था कि मौसिम ने उसकी बेटी से विवाह कर लिया है पीड़िता की मां लगातार न्याय के लिए ऑफिसरों के दरवाजे खटखटा रही थी, लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हुई आरोपी ने कुछ पुलिसवालों के साथ मिलकर नाबालिग पीड़िता को मथुरा से दूर कानपुर नारी निकेतन भिजवा दिया पीड़िता और उसकी मां ने बताया कि लगातार आरोपी मौसिम धर्म बदलाव करने का दबाव बना रहा था वहीं, यह भी बताया गया कि आरोपी का नशीला पदार्थों की बिक्री का बड़ा गैर कानूनी कारोबार है मामले में पुलिस ने बहला फुसलाकर भगा ले जाने की धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है किशोरी का मेडिकल कराकर धारा 164 के अनुसार बयान दर्ज कराए जाएंगे