2 वर्ष बाद टी20 टीम में चुने गए हैं मोदम्मद शमी, जानिए वजह

2 वर्ष बाद टी20 टीम में चुने गए हैं मोदम्मद शमी, जानिए वजह

हिंदुस्तान व वेस्टइंडीज के बीच तीन टी20 मैचों की सीरीज का आगाज शुक्रवार से हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम में हो रहा है. इस मैदान पर सीरीज का ये पहला मैच खेला जाएगा. ये सीरीज टी20 वर्ल्ड कप के लिहाज से बहुत ज्यादा अहम मानी जा रही है, जिसमें अब 10 महीने का समय बचा हुआ है. ऐसे में चयनकर्ताओं ने टीम के रेग्युलर खिलाड़ियों को इस सीरीज में मौका दिया है.

2 वर्ष बाद टी20 टीम में चुने गए हैं मोदम्मद शमी

वेस्टइंडीज के विरूद्ध पहले टी20 में जब टीम इंडिया मैदान पर उतरेगी तो एक खिलाड़ी ऐसा भी होगा, जो सारे दो वर्ष के बाद टी20 मैच खेलने उतरेगा. भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी 2 वर्ष के बाद कोई टी20 मैच खेलेंगे. मोहम्मद शमी ने पिछले कुछ समय में वनडे व टेस्ट फॉर्मेट में बहुत ही शानदार गेंदबाजी की है. इसी वजह से शमी को छोटे फॉर्मेट में खिलाया जा रहा है. शमी को बुमराह की गैरमौजूदगी की वजह से भी टीम में स्थान मिल पाई है. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि शमी ने अपना आखिरी टी20 मैच जुलाई 2017 में वेस्टइंडीज के विरूद्ध ही खेला था व अब वो वेस्टइंडीज के विरूद्ध ही टीम में वापसी कर रहे हैं.

इन खिलाड़ियों पर भी रहेगी नजर

कुलदीप यादव

टीम इंडिया के चाइनामैन कुलदीप यादव भी दस महीने बाद टीम में वापसी कर रहे हैं. बेकार फॉर्म की वजह से वो फरवरी के बाद से ही टीम से बाहर चल रहे थे, लेकिन वर्ल्ड कप को ध्यान में रखते हुए कुलदीप को टीम में शामिल किया गया है.

ऋषभ पंत

अगर ऋषभ पंत को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया जाता है तो वो ऐसे खिलाड़ी हैं, जिस पर सभी की नजरें सबसे ज्यादा होंगी, क्योंकि धोनी के उत्तराधिकारी के रूप में टीम में स्थान बनाने वाले पंत पिछले कुछ महीनों से आउट ऑफ फॉर्म चल रहे हैं. वो लगातार अपनी बल्लेबाजी व विकेटकीपिंग से निराश कर रहे हैं व आलोचनाओं का सामना कर रहे हैं. टेस्ट में रिद्धिमान साहा के हाथों अपनी स्थान गंवा चुके पंत को छोटे फॉर्मेट में संजू सैमसन से चुनौती मिल रही है.

संजू सैमसन

केरल के 25 वर्षीय विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन को टीम में स्थान बनाने के लिए बहुत ज्यादा मशक्कत करनी पड़ रही है. पंत के टीम में होने की वजह से वे प्लेइंग XI में स्थान नहीं बना पा रहे हैं. हालांकि इस वर्ष आईपीएल में शतक व फिर विजय हजारे में दोहरा शतक लगाकर उन्होंने चयनकर्ताओं को खुद की ताकत दिखा दी. सिर्फ एक अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने वाले सैमसन को चोटिल धवन की स्थान टीम में लिया गया है, ऐसे में उनके पास खुद को साबित करने का सुनहरा मौका होगा.