कोहली की कप्तानी पर गंभीर ने किया तीखा प्रहार, कहा...

कोहली की कप्तानी पर गंभीर ने किया तीखा प्रहार, कहा...

इसमें कोई शक नहीं है कि विराट कोहली दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाज हैं और हर जगह उन्होंने ये बात साबित भी की है। बात चाहे आइपीएल की हो या फिर इंटरनेशनल लेवल की विराट के आंकड़े ये जाहिर करते हैं कि वो कितने शानदार बल्लेबाज हैं, लेकिन बतौर कप्तान आइपीएल में वो फेल ही रहे। उनके उपर ये दाग ताउम्र लगा रहेगा कि वो अपनी कप्तानी में इस टीम को एक बार भी खिताब नहीं दिला पाए। आइपीएल 2021 के एलिमिनेटर मैच में आरसीबी को केकेआर के हाथों हार मिली और ये टीम बाहर हो गई। आरसीबी के इस तरह से बाहर होने के बाद टीम इंडिया के पूर्व ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर ने विराट कोहली पर जमकर निशाना साधा। 

गंभीर ने क्रिकइन्फो पर बात करते हुए कहा कि रणनीति बनाने के मामले में विराट कोहली सक्षम कैप्टन नहीं हैं। वो एनर्जी और पैशन के नजरिए से बेस्ट कप्तान हो सकते हैं, लेकिन जहां तक बात मैच को पढ़ने और टैक्टिस की आती है वो उतने सक्षम नहीं दिखते जितना होना चाहिए। उन्होंने आरसीबी की कप्तानी लंबे समय तक की और इस दौरान सबकुछ उन्हें ही करना था। टीम को अपने हिसाब से बनाना भी उनकी जिम्मेदारी थी, लेकिन वो इसमें सफल नहीं हो पाए। टी20 क्रिकेट में आपको गेम से आगे रहने की जरूरत होती है ना कि गेम से साथ। 


उन्होंने लो स्कोरिंग मैच के बारे में बात करते हुए कहा कि जब आपके पास स्कोर कम होता है तब आपको गेंद से एक कदम आगे रहने की जरूरत होती है। हमने ये भी देखा कि किस तरह से डेनियल क्रिस्टियन के एक ओवर ने मैच को किस तरह से बदल दिया। अगर उनके उस ओवर में 22 रन नहीं बनते तो आरसीबी शायद मैच बचा ले जाता। केकेआर के खिलाफ डेनियल ने एक ओवर में 22 रन दिए थे और यहीं से मैच पलट गया था और कोहली ने भी मैच के बाद ये बात कही थी कि इस ओवर की वजह से मैच पलट गया था। ये टीम की हार की सबसे बड़ी वजह बनी थी। 


चेन्नई ने फाइनल में कोलकाता को किया पस्त, बनी इस सीजन की चैंपियन

चेन्नई ने फाइनल में कोलकाता को किया पस्त, बनी इस सीजन की चैंपियन

इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन के फाइनल में दुबई में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने कोलकाता नाइट राइडर्स को 27 रन से हराते हुए चौथी बार आइपीएल खिताब जीता। इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए चेन्नई ने फाफ डु प्लेसिस की दमदार 86 रन की पारी के दम पर 20 ओवर में 192 रन का स्कोर खड़ा किया। जवाब में कोलकाता की टीम 9 विकेट पर 165 रन ही बना पाई। पिछले सीजन (2020) में आइपीएल से बाहर होने वाली चेन्नई पहली टीम थी और इस बार खिताब जीतकर पहला स्थान हासिल किया।

धौनी की कप्तानी के सामने मोर्गन पूरी तरह से फीके नजर आए तो वहीं माही सबसे बड़ी उम्र में आइपीएल फाइनल खिताब जीतने वाले कप्तान भी बने। चेन्नई ने इससे पहले साल 2010, 2011 और 2018 में खिताब जीते थे। खिताब जीतने वाली टीम सीएसके को 20 करोड़ रुपये ईनाम के तौर पर दिए गए तो वहीं उप-विजेता टीम केकेआर को 12.5 करोड़ रुपये मिले। 

इस मैच में डुप्लेसिस को उनकी बेहतरीन पारी के लिए प्लेयर आफ द मैच का खिताब दिया गया।  इसके अलावा रितुराज गायकवाड़ को इमर्जिंग प्लेयर आफ द सीजन का खिताब मिला। राजस्थान रायल्स ने इस सीजन में फेयरप्ले का अवार्ड अपने नाम किया। दिल्ली के बल्लेबाज शिमरोन हेटमायर को सुपर स्ट्राइकर आफ द सीजन का खिताब मिला और उनका स्ट्राइक रेट 168 का रहा। हर्षल पटेल गेम चेंजर आफ दी सीजन का खिताब जीतने में सफल रहे साथ ही वो प्लेयर आफ द सीरीज भी बने। वेंकटेश अय्यर पावर प्लेयर आफ द सीजन बने।

रवि बिश्नोई इस सीजन में सबसे बेहतरीन कैच पकड़ने वाले फील्डर करार दिए गए। उन्होंने अहमदाबाद में सुनील नरेन का कैच डीप मिड-विकेट पर फुल लेंथ डाइव करते हुए लिया था। आइपीएल 2020 में केएल राहुल सबसे ज्यादा छक्के (30) लगाने वाले खिलाड़ी रहे। वहीं 32 विकेट लेने वाले हर्षल पटेल ने पर्पल कैप तो वहीं सबसे ज्यादा 635 रन बनाने वाले रितुराज गायकवाड़ ने आरेंज कैप हासिल किया। हर्षल पटेल मोस्ट वैल्यूएबल प्लेयर आफ दी सीन भी रहे। 

अच्छी शुरुआत के बाद हारी कोलकाता

चेन्नई से मिले बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरे कोलकाता के लिए हमेशा की तरह वेंकटेश अय्यर और शुभमन गिल ने दमदार शुरुआत की। दोनों ने पावरप्ले के 6 ओवर में बिना विकेट गंवाए 55 रन बना डाले। वेंटकेश ने अपनी पारी को जारी रखते हुए 31 गेंद पर टूर्नामेंट का चौथा अर्धशतक पूरा किया। शार्दुल ठाकुर ने एक ही ओवर में पहले कोलकाता को दो झटके दिए। पहले वेंकटेश और फिर नितीश राणा को उन्होंने आउट किया। सुनील नरेन इसके बाद महज 2 रन बनाकर बाउंड्री पर बड़ा शाट खेलने की कोशिश में जडेजा को कैच दे बैठे।  

वेंकटेश के बाद दूसरे ओपनर गिल ने भी अपना अर्धशतक पूरा किया। 40 गेंद पर 6 चौका लगाकर उन्होंने अपने पचास रन पूरे किए। इसके ठीक बाद दीपक चाहर की गेंद पर विकेट के पीछे लैप शाट लगाने की कोशिश में गिल lbw होकर वापस लौटे। टीम का पांचवां विकेट दिनेश कार्तिक के रूप में गिरा जब वह जडेजा को बड़ा शाट लगाने की कोशिश में बाउंड्री पर अंबाती रायडु द्वारा लपके गए। शाकिब अल हसन को जडेजा ने शून्य पर lbw कर ओवर का दूसरा विकेट हासिल किया। चेन्नई की तरफ से इस मैच में शार्दुल ठाकुर ने तीन, हेजलवुड व जडेना ने दो-दो जबकि चाहर व ब्रावो ने एक-एक विकेट लिए। 

IPL 2021 Final Match LIVE स्कोरकार्ड

चेन्नई की पारी, डुप्लेसिस का अर्धशतक

टास हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी चेन्नई सुपर किंग्स की टीम के लिए ओपनर रितुराज गायकवाड़ और फाफ डुप्लेसिस ने शानदार कार्य किया। दोनों ने पावरप्ले के 6 ओवरों में बिना विकेट खोए 50 रन जोड़े। हालांकि, 9वें ओवर की पहली गेंद पर रितुराज गायकवाड़ 32 रन के निजी स्कोर पर सुनील नरेन की गेंद पर शिवम मावी के हाथों कैच आउट हो गए। चेन्नई के ओपनर फाफ डुप्लेसिस ने 35 गेंदों में दमदार अर्धशतक पूरा किया। सीएसके को दूसरा झटका रोबिन उथप्पा के रूप में लगा जो 15 गेंदों में 31 रन बनाकर आउट हुए। डुप्लेसिस 86 रन बनाकर आउट हुए जबकि मोइन अली ने नाबाद 37 रन बनाए। केकेआर की तरफ से सुनील नरेन ने दो जबकि शिमव मावी ने एक विकेट लिए। 

दोनों टीमों ने प्लेइंग इलेवन में नहीं किए कोई बदलाव

आइपीएल के 14वें सीजन के फाइनल मैच के लिए सीएसके ने अपनी प्लेइंग इलेवन में किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं किया। वो दिल्ली के खिलाफ पहले क्वालीफायर में जिस टीम के साथ उतरे थे उसी टीम के साथ फाइनल में भी उतरे। वहीं केकेआर भी दिल्ली के खिलाफ दूसरे क्वालीफायर में जिस प्लेइंग इलेवन के साथ मैदान पर उतरी थी उसी कांबिनेशन के साथ सीएसके खिलाफ उतरी। 

सीएसके की प्लेइंग इलेवन-

रितुराज गायकवाड़, फाफ डुप्लेसिस, राबिन उथप्पा, मोइन अली, अंबाती रायुडू, एम एस धौनी (कप्तान/विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, ड्वेन ब्रावो, शार्दुल ठाकुर, दीपक चाहर, जोस हेजलवुड।

केकेआर की प्लेइंग इलेवन-

शुभमन गिल, वेंकटेश अय्यर, नीतिश राणा, राहुल त्रिपाठी, इयोन मोर्गन (कप्तान), दिनेश कार्तिक, शाकिब अल हसन, सुनील नरेन, लाकी फर्ग्यूसन, शिवम मावी, वरुण चक्रवर्ती।