हार्दिक पांड्या ने एक साल से कम के समय में ही खुद को विलेन से बना लिया है हीरो

हार्दिक पांड्या ने एक साल से कम के समय में ही खुद को विलेन से बना लिया है हीरो

टी20 वर्ल्ड कप 2021 में टीम इण्डिया जिस तरह से पहले दो मैच हारी, उसके बाद से ही हार्दिक पांड्या भारतीय क्रिकेट फैन्स की नजर में विलेन से बन गए थे. हार्दिक ने एक वर्ष से कम के समय में ही स्वयं को विलेन से हीरो बना लिया है. इसकी आरंभ भारतीय प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 से हुई. हार्दिक को गुजरात टाइटन्स का कप्तान बनाया गया और टीम और कप्तानी के अपने डेब्यू सीजन में हार्दिक ने टीम को चैंपियन बनाकर पूरे विश्व के ओलोचकों के मुंह पर ताला लगा दिया था. हार्दिक इसके बाद टी20 फॉर्मेट में टीम इण्डिया की कप्तानी भी करने उतरे और सफल हुए. हार्दिक ने वेस्टइंडीज के विरूद्ध पांच मैचों की सीरीज के अंतिम मैच में रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में टीम की कमान संभाली और एक बार परिणाम टीम इण्डिया के पक्ष में रहा. मैच के बाद फ्यूचर कप्तानी को लेकर हार्दिक ने खुलकर अपनी बात रखी.

हार्दिक से जब मैच के बाद पूछा गया कि क्या वह स्वयं को फ्यूचर में टीम इण्डिया के परमानेंट कप्तान के तौर पर देखते हैं, तो उन्होंने कहा, ‘क्यों नहीं, यदि मुझे कप्तानी का मौका मिलेगा तो मैं इसे खुशी से लेना चाहूंगा. अभी हमें एशिया कप पर ध्यान देना है. हम उसी पर फोकस करना चाहते हैं. बतौर टीम हमारी यही प्रयास रहती है कि हम लगातार सुधार भी करें और खेल का आनंद भी लेते रहें.

पांचवें टी20 में नियमित कप्तान रोहित शर्मा सहित कई खिलाड़ियों को आराम दिया गया था और इसके बावजूद हिंदुस्तान ने मैच 88 रनों से जीता. यह भारतीय टीम के लिए टी20 इंटरनेशनल मैचों में संयुक्त रूप से चौथी सबसे बड़ी जीत थी. हिंदुस्तान ने इस वर्ष सात कप्तानों का प्रयोग किया है. वेस्टइंडीज और यूएसए के दौरे से पूर्व उपकप्तान के रूप में हार्दिक ने ऋषभ पंत की स्थान ली थी.