श्रीलंका के दिग्गज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने लिया संन्यास, टी20 में सबसे ज्यादा विकेट लेने का वर्ल्ड रिकार्ड

श्रीलंका के दिग्गज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने लिया संन्यास, टी20 में सबसे ज्यादा विकेट लेने का वर्ल्ड रिकार्ड

श्रीलंका के दिग्गज तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। साल 2014 में टी20 विश्व कप में टीम की कप्तानी करने वाले मलिंगा ने क्रिकेट के सभी फार्मेट को अलविदा करने का फैसला लिया है। उन्होंने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक संदेश जारी कर अपने सभी चाहने वालों तक यह बात पहुंचाई।

दुनिया के सबसे खतरनाक तेज गेंदबाजों की लिस्ट में शामिल मलिंगा ने क्रिकेट के तीनों ही फार्मेट में अपना नाम कमाया। सटीक यार्कर से दुनिया के बड़े बड़े बल्लेबाजों के विकेट उखाड़ने वाले मलिंगा ने टेस्ट और वनडे क्रिकेट से पहले ही संन्यास ले लिया था। जुलाई 2004 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट से इंटरनेशनल करियर का आगाज करने वाले मलिंगा ने आखिरी मैच 6 मार्च 2020 को वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था।  

लसिथ मलिंगा की कप्तानी में ही श्रीलंका क्रिकेट टीम ने 2014 में टी20 विश्व कप का खिताब जीता था। भारतीय टीम को फाइनल में 6 विकेट से हराकर श्रीलंका की टीम ने यह ट्राफी जीती थी। मलिंगा ने 226 वनडे मैच खेलकर 338 विकेट हासिल किए जबकि 84 टी20 मुकाबलों में उनके नाम 107 विकेट हैं। 30 टेस्ट मैच खेलने वाले मलिंगा ने इस फार्मेट में 101 विकेट चटकाए।

मलिंगा के नाम रिकार्ड

टी20 के बादशाह माने जाने वाले मलिंगा ने इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा 107 विकेट चटकाए हैं। 84 टी20 इंटरनेशनल मैच खेलकर उन्होंने 2 बार पांच विकेट लेने का कमाल करने के साथ यह विकेट हासिल किए हैं। उनका सर्वश्रेष्ठ टी20 प्रदर्शन 6 रन देकर 5 विकेट का है जो न्यूजीलैंड के खिलाफ उन्होंने 2019 में पल्लिकल में किया था। 

आइपीएल में भी सबसे ज्यादा विकेट चटकाने में मलिंगा टाप पर हैं। उन्होंने 122 मुकाबले खेलकर कुल 179 विकेट हासिल किए हैं। उनका सबसे बेहतरीन प्रदर्शन 13 रन देकर 5 विकेट हासिल करने का रहा है। आइपीएल में कुल 6 बार उन्होंने एक मैच में 4 या उससे ज्यादा विकेट चटकाए हैं।


विराट कोहली के फैसले का RCB के प्रदर्शन पर नहीं पड़ा है कोई प्रभाव: माइक हेसन

विराट कोहली के फैसले का RCB के प्रदर्शन पर नहीं पड़ा है कोई प्रभाव: माइक हेसन

रायल चैलेंजर्स बेंगलुरु के मुख्य कोच माइक हेसन ने कहा कि विराट कोहली का वर्तमान सत्र के बाद इस आइपीएल फ्रेंचाइजी की कप्तानी छोड़ने के फैसले का कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) के खिलाफ टीम के प्रदर्शन पर किसी तरह का असर नहीं पड़ा। आरसीबी को केकेआर के हाथों नौ विकेट से करारी हार झेलनी पड़ी। इससे एक दिन पहले कोहली ने वर्तमान सत्र के बाद आरसीबी की कप्तानी छोड़ने की घोषणा की थी।

हेसन ने कहा कि जितना जल्दी हो सके घोषणा करना महत्वपूर्ण था। उन्होंने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'नहीं, मैं ऐसा नहीं मानता। ऐसी किसी भी चीज को जल्दी दूर करना महत्वपूर्ण होता है जिससे आपका ध्यान बंटता हो। इसलिए हमने जल्द से जल्द घोषणा करने को लेकर बात की और सभी खिलाड़ी इससे अवगत थे। लेकिन, इसका वास्तव में टीम के प्रदर्शन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा। हमने वैसी बल्लेबाजी नहीं की जैसी हमें करनी चाहिए थी। हमने परिस्थितियों से सामंजस्य नहीं बिठाया, हमने लगातार विकेट गंवाए। हमने ऐसा कुछ भी नहीं किया जो एक बल्लेबाजी इकाई के रूप में करना चाहिए था, लेकिन मुझे अब भी इस टीम पर भरोसा है। हम जल्द ही बेहतर प्रदर्शन करेंगे।'


कोहली ने आरसीबी की कप्तानी छोड़ने की घोषणा करने से दो दिन पहले अगले महीने होने वाले विश्व कप के बाद भारत की टी-20 कप्तानी छोड़ने का भी फैसला किया था। वहीं आपको बता दें कि, आइपीएल 2021 के यूएई लेग में आरसीबी की शुरुआत काफी खराब रही और इस टीम को केकेआर ने नौ विकेट से पटखनी दे दी। इस मैच में विराट कोहली ने सिर्फ 5 रन का योगदान दिया था। हालांकि इस हार के बाद भी इस वक्त आरसीबी अंकतालिका में तीसरे नंबर पर बनी हुई है। आरसीबी ने अब तक 8 मैचों में से 5 मैच जीते हैं और 3 में उसे हार का सामना करना पड़ा है।