खाली स्टेडियम में टीवी स्क्रीन पर रिकॉर्डेड वीडियो दिखाए जाएंगे; भुवनेश्वर ने कहा...

खाली स्टेडियम में टीवी स्क्रीन पर रिकॉर्डेड वीडियो दिखाए जाएंगे; भुवनेश्वर ने कहा...

इस बार भारतीय प्रीमियर लीग (आईपीएल) 19 सितंबर से 10 नवंबर तक यूएई में खेला जाएगा. कोरोनावायरस के कारण टूर्नामेंट बिना दर्शकों के बायो-सिक्योर माहौल में खेला जाएगा. हालांकि, फ्रेंचाइजियों ने खाली स्टेडियम में भी चीयरलीडर्स व फैंस की मौजूदगी दर्शाने का पूरा बंदोवस्त कर लिया है.

दरअसल, फ्रेंचाइजी खाली स्टेडियम में स्क्रीन लगाएंगी, जिस पर फैंस के रिएक्शन व चीयरलीडर्स के रिकॉर्डेड वीडियो दिखाए जाएंगे. यानि टीवी दर्शकों को अब हर चौके व छक्के पर चीयरलीडर्स नाचती दिखाई देंगी. इस पर सनराइजर्स हैदराबाद टीम के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने बोला कि इससे खिलाड़ियों का कॉन्फिडेंस बढ़ेगा.

टीमें अपनी बल्लेबाजी के दौरान फैंस के वीडियो दिखाएंगी
एक फ्रेंचाइजी के ऑफिसर ने न्यूज एजेंसी को बताया, ‘‘सेहत व बायो-सिक्योर को ध्यान में रखते हुए स्टेडियम पूरी तरह खाली रहेंगे. इस कारण कुछ टीमों ने चीयरलीडर्स के वीडियो पहले से ही रिकॉर्ड करने का निर्णय किया. इन वीडियो को चौके, छक्के या विकेट गिरने पर दिखाया जाएगा. वहीं, कुछ टीमों ने फैंस के छोटे-छोटे वीडियो बनाए हैं, जिन्हें अपनी टीम की बल्लेबाजी के दौरान दिखाया जाएगा.’’

फैंस व खिलाड़ी दोनों के लिए फायदा
ऑफिसर ने कहा, ‘‘यदि इस निर्णय को समझा जाए, तो यह दोनों तरह से कार्य करेगा. जैसे- अपने वीडियो स्टेडियम में चलने से फैंस को भी यह महसूस होगा कि वे भी खेल का भाग हैं. वहीं, खिलाड़ियों को यह पता लगेगा कि भले ही फैंस स्टेडियम में नहीं हैं, लेकिन बाहर से वे उन पर नजर बनाए हुए हैं व उन्हें सपोर्ट कर रहे हैं. इससे खिलाड़ियों को मोटिवेशन मिलेगा व खेल में रोमांच भी बरकरार रहेगा.’’

कोहली ने कहा- 5 महीने बाद प्रैक्टिस में थ्रो फेंके तो कंधों में खिंचाव महसूस हुआ
वहीं, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के कैप्टन विराट कोहली का मानना है कि आईपीएल के लिए उनकी टीम की फिटनेस अच्छी है. उन्होंने आरसीबी के ट्विटर एकाउंट पर शेयर किए गए वीडियो में बोला कि महीनों बाद जब प्रैक्टिस में थ्रो फेंके, तो कंधों में थोड़ा दर्द व खिंचाव हो रहा था. हालांकि, ट्रेनिंग करते-करते मांसपेशियां पहले की तरह कार्य करने लगीं व अब हर खिलाड़ी बेहतर महसूस कर रहा है.

इस वर्ष सुरक्षित रहे तो अगली बार एक साथ मैदान में लौट सकते हैं: शमी
रिकॉर्डेड वीडियो चलाने को लेकर तेज गेंदबाज भुवनेश्वर ने न्यूज एजेंसी से कहा, ‘‘मौजूदा दशा पिछले सभी सीजन से बिल्कुल अलग हैं. मैदान पर कोई भी फैंस नजर नहीं आएगा. ऐसे में यह हमारा कॉन्फिडेंस बढ़ाएगा.’’ वहीं, किंग्स इलेवन पंजाब के फास्ट बॉलर मोहम्मद शमी ने कहा, ‘‘हमें यह याद रखना होगा कि सभी के लिए सुरक्षा व स्वास्थ्य सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है. यदि इस वर्ष हम सुरक्षित रहे तो अगली बार सभी (फैंस व प्लेयर्स) एक साथ मैदान में वापसी कर सकते हैं.’’

इससे पहले कई फुटबॉल लीग में भी फैंस को स्टेडियम में दिखाने के लिए कई तकनीकों का प्रयोग किया जा चुका है. डेनमार्क की दानिश सुपरलिगा में फैन्स की मौजूदगी के लिए स्टेडियम में टीवी स्क्रीन लगाई गईं थी. इनमें ऐप पर लाइव मैच देख रहे फैन्स को दिखाया गया. स्टेडियम में लगे स्पीकर से उनकी आवाज भी सुनाई गई थीं.

ताइवान में फैंस के कटआउट व डमी स्टेडियम में लगाई गई थीं
स्पेनिश लीग ला लिगा में वर्चुअल फैंस को टीवी पर दिखाया गया था. गोल होने पर दर्शकों की पहले से ही रिकॉर्ड की गई आवाज प्ले की गई थी. वहीं, ताइवान में चाइनीज लीग के दौरान भी फैंस के कटआउट व डमी लगाई गईं. दर्शकों की स्थान रोबोट को बैठाया गया है. चीयरलीडर्स उनके सामने परफॉर्म कर रही हैं.

तीन स्टेडियम में होंगे सभी 60 मैच
आईपीएल में इस बार पहला मैच पिछली बार के चैम्पियन मुंबई इंडियंस व चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला जाएगा. सभी 60 मैच दुबई, अबुधाबी व शारजाह में खेले जाएंगे. दुबई में 24 मैच, अबु धाबी में 20 मैच व शारजाह में 12 मैच होंगे.

टूर्नामेंट के हर 5वें दिन खिलाड़ियों का कोरोना टेस्ट होगा
टूर्नामेंट में अनलिमिटेड कोरोना सब्सटिट्यूट की भी मंजूरी दी. यानी टूर्नामेंट में कोई खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव निकलता है, तो टीम उसकी स्थान दूसरा खिलाड़ी टीम में शामिल कर सकेंगी. आईपीएल के हर 5वें दिन खिलाड़ी व स्टाफ का कोरोना टेस्ट होगा. टूर्नामेंट के दौरान करीब 20 हजार कोरोना टेस्ट होंगे, जिसके लिए बीसीसीआई ने 10 करोड़ रुपए का बजट मंजूर किया है.