मैच फिक्सिंग में दोषी पाकिस्तानी ओपनर शर्जील खान अब टीम को इससे बचने के बताएंगे ढंग

मैच फिक्सिंग में दोषी पाकिस्तानी ओपनर शर्जील खान अब टीम को इससे बचने के बताएंगे ढंग

मैच फिक्सिंग में दोषी पाकिस्तानी ओपनर शर्जील खान अब टीम को इससे बचने के ढंग बताएंगे. शर्जील 11 दिसंबर को श्रीलंका के विरूद्ध रावलपिंडी में होने वाले टेस्ट से पहले टीम से मिलेंगे. 

इस दौरान वो राष्ट्रीय टीम के खिलाड़ियों को बताएंगे कि मैच फिक्सिंग गलत है व इससे कैसे बचा जा सकता है. पाक क्रिकेट बोर्ड यानी पीसीबी ने खान को यह जिम्मेदारी सौंपी है. शर्जील पर 2017 में पाक सुपर लीग यानी पीएसएल में मैच फिक्सिंग के आरोप लगे. जाँच में दोषी पाए गए. पांच वर्ष का बैन लगा. इसमें से ढाई वर्ष का बैन पूरा हुआ जबकि इतनी ही सजा निलंबित रखी गई. ब्रिटेन की एक न्यायालय में भी इसी आरोप के तहत शर्जील पर केस चल रहा है.

पाकिस्तान टीम से मिलेंगे
न्यूज एजेंसी के मुताबिक, खान इस वक्त रिहैबिलिटेशन प्रॉसेस से गुजर रहे हैं. पाक टीम 11 दिसंबर से रावलपिंडी में श्रीलंका के विरूद्ध दो टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट खेलेगी. इसके पहले शर्जील पुराने साथियों से मिलेंगे व उन्हें मैच फिक्सिंग से दूर रहने के ढंग सुझाएंगे. इसके बाद वो घरेलू क्रिकेट के अतिरिक्त पीएसएल में भी खेल सकेंगे. शर्जील के साथ खालिद लतीफ, मोहम्मद इरफान, मोहम्मद नवाज, नासिर जमशेद व शाहजेब हसन पर मैच व स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में बैन लगा था. खान को राहत मिली लेकिन बाकी खिलाड़ियों पर बैन बरकरार है.

पीएसएल भी खेल सकेंगे
30 वर्ष के शर्जील पीएसएल में इस्लामाबाद यूनाईटेड की तरफ से खेलते हैं. बैन हटने के बाद उनका नाम पीएसएल-5 के लिए प्लेयर्स ड्राफ्ट लिस्ट में शामिल किया गया है. यानी कोई भी फ्रेंचाइजी खान को अपनी टीम में शामिल कर सकती है. ऑक्शन शुक्रवार 6 दिसंबर को होंगे. वो पाक की अंडर 19 टीम को भी मैच फिक्सिंग से बचने के ढंग बता चुके हैं. ब्रिटेन की एक न्यायालय में खान के विरूद्ध मैच फिक्सिंग का केस चल रहा है. इस मुद्दे में बयान दर्ज कराने उन्हें लंदन भी जाना पड़ सकता है.