कोरोना महामारी के बीच प्रैक्टिस का समय नहीं, पढ़े

 कोरोना महामारी के बीच प्रैक्टिस का समय नहीं, पढ़े

बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन (बीडब्ल्यूएफ) ने शुक्रवार को नया कैलेंडर जारी किया. इसके मुताबिक, कोरोनावायरस के बीच अगले 5 महीनों में 22 टूर्नामेंट कराए जाएंगे. भारतीय बैडमिंटन स्टार सायना नेहवाल, पी कश्यप, बी साई प्रणीत समेत अन्य खिलाड़ियों ने कैलेंडर की आलोचना की.

कश्यप ने बोला कि कोरोना महामारी के बीच प्रैक्टिस का समय नहीं है व बीडब्ल्यूएफ ने 5 महीनों में 22 टूर्नामेंटों की घोषणा कर दी. इस पर एचएस प्रणॉय ने कहा, ‘‘इसे व बढ़ा सकते थे व इसके बजाय 25 कर सकते थे. अच्छा काम.’’

5 महीने बिना रुके यात्रा करना जोखिम भरा है: सायना
प्रणीत ने कहा, ‘‘लोग कम यात्रा करने की बात कर रहे हैं व हम अधिक यात्रा की बात कर रहे हैं.’’ सायना ने कहा, ‘‘टेनिस के पास अक्टूबर तक किसी भी तरह के प्रोग्राम की योजना नहीं है. 5 महीने तक बिना रुके यात्रा. सबसे बड़ा सवाल यह है कि कोरोनावायरस महामारी के दौरान यात्रा को लेकर अंतर्राष्ट्रीय दिशा-निर्देशों का क्या हुआ?’’

दिसंबर में होगा इंडिया ओपन

ओलिंपिक क्वालिफाइंग बैडमिंटन टूर्नामेंट इंडिया ओपन 8 से 13 दिसंबर तक होगा. मार्च में होने वाले इस टूर्नामेंट को कोरोनावायरस के कारण स्थगित कर दिया गया था. हैदराबाद ओपन 11 से 16 अगस्त तक जबकि सैय्यद मोदी टूर्नामेंट 17 से 22 नवंबर तक होगा. थॉमस व उबर कप फाइनल्स के मुकाबले 3 से 11 अक्टूबर को डेनमार्क में होंगे.

8 टूर्नामेंट की तारीखों में बदलाव
जर्मन ओपन, स्विस ओपन यूरोपियन ओपन व ऑस्ट्रेलियन ओपन की तारीखें अभी घोषित नहीं की गई हैं. 8 टूर्नामेंट की तारीखों में परिवर्तन किए गए हैं. बीडब्ल्यूएफ के महासचिव थॉमस लुंड ने बोला बैडमिंटन की वापसी के लिए प्लान बनाना कठिन है. महामारी के कारण मार्च से लेकर अब तक 10 से अधिक बैडमिंटन टूर्नामेंट रद्द हो चुके हैं.