भारत की कमजोर बल्लेबाजी की वजह से इस बल्लेबाज को प्लेइंग XI में मिलेगा मौका

भारत की कमजोर बल्लेबाजी की वजह से इस बल्लेबाज को प्लेइंग XI में मिलेगा मौका

इंग्लैंड के खिलाफ चार अगस्त से शुरू होने वाले पांच मैचों की टेस्ट सीरीज से पहले पूर्व भारतीय ओपनर बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने टीम इंडिया की बल्लेबाजी को लेकर बड़ी बात कही। उन्होंने कहा कि, टीम इंडिया की बल्लेबाजी इस समय कमजोर है और इसकी वजह से ही केएल राहुल को इस टेस्ट सीरीज में खेलने का मौका मिल सकता है। आकाश चोपड़ा का मानना है कि, केएल राहुल को प्लेइंग इलेवन में बतौर ओपनर भी शामिल किया जा सकता है। आपको बता दें कि, केएल राहुल ने प्रैक्टिस मैच में शतक लगाकर अपनी दावेदारी प्लेइंग इलेवन के लिए मजबूत की थी। 

आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए कहा कि, टीम इंडिया अपनी प्लेइंग इलेवन में केएल राहुल को शामिल करके अपनी बल्लेबाजी लाइनअप को और मजबूत कर सकती है। उन्होंने कहा कि, केएल राहुल ने प्रैक्टिस मैच में शतक लगाया था और वो इंग्लैंड में शतक लगा चुके हैं। अब वो मध्यक्रम बल्लेबाज के तौर पर खेल रहे हैं और जरूर मौका मिल सकता है। भारतीय मध्यक्रम में जगह खाली है और इसकी वजह से ही पृथ्वी शॉ और सूर्यकुमार यादव को भी टेस्ट टीम में शामिल किया गया है। 


भारतीय बल्लेबाजी के बारे में आकाश चोपड़ा ने कहा कि, टीम इंडिया की बल्लेबाजी कमजोर है। अभिमन्यु ईश्वरन अच्छी लय में नहीं हैं तो रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल की जोड़ी को विदेशी धरती पर बतौर ओपनिंग जोड़ी खुद को साबित करना बाकी है। हनुमा विहारी के बारे में पक्के तौर पर ये नहीं कहा जा सकता है कि, उन्हें प्लेइंग इलेवन में मौका मिलेगा या नहीं ऐसा में कुल मिलाकर देखें तो केएल राहुल का चांस बनता नजर आ रहा है। उन्हें बतौर ओपनर भी मौका दिया जा सकता है, लेकिन फिलहाल तो वो मध्यक्रम में ही खेलेंगे। केएल राहुल टेस्ट क्रिकेट में अब तक 5 शतक लगा चुके हैं। 


विराट कोहली के फैसले का RCB के प्रदर्शन पर नहीं पड़ा है कोई प्रभाव: माइक हेसन

विराट कोहली के फैसले का RCB के प्रदर्शन पर नहीं पड़ा है कोई प्रभाव: माइक हेसन

रायल चैलेंजर्स बेंगलुरु के मुख्य कोच माइक हेसन ने कहा कि विराट कोहली का वर्तमान सत्र के बाद इस आइपीएल फ्रेंचाइजी की कप्तानी छोड़ने के फैसले का कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) के खिलाफ टीम के प्रदर्शन पर किसी तरह का असर नहीं पड़ा। आरसीबी को केकेआर के हाथों नौ विकेट से करारी हार झेलनी पड़ी। इससे एक दिन पहले कोहली ने वर्तमान सत्र के बाद आरसीबी की कप्तानी छोड़ने की घोषणा की थी।

हेसन ने कहा कि जितना जल्दी हो सके घोषणा करना महत्वपूर्ण था। उन्होंने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'नहीं, मैं ऐसा नहीं मानता। ऐसी किसी भी चीज को जल्दी दूर करना महत्वपूर्ण होता है जिससे आपका ध्यान बंटता हो। इसलिए हमने जल्द से जल्द घोषणा करने को लेकर बात की और सभी खिलाड़ी इससे अवगत थे। लेकिन, इसका वास्तव में टीम के प्रदर्शन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा। हमने वैसी बल्लेबाजी नहीं की जैसी हमें करनी चाहिए थी। हमने परिस्थितियों से सामंजस्य नहीं बिठाया, हमने लगातार विकेट गंवाए। हमने ऐसा कुछ भी नहीं किया जो एक बल्लेबाजी इकाई के रूप में करना चाहिए था, लेकिन मुझे अब भी इस टीम पर भरोसा है। हम जल्द ही बेहतर प्रदर्शन करेंगे।'


कोहली ने आरसीबी की कप्तानी छोड़ने की घोषणा करने से दो दिन पहले अगले महीने होने वाले विश्व कप के बाद भारत की टी-20 कप्तानी छोड़ने का भी फैसला किया था। वहीं आपको बता दें कि, आइपीएल 2021 के यूएई लेग में आरसीबी की शुरुआत काफी खराब रही और इस टीम को केकेआर ने नौ विकेट से पटखनी दे दी। इस मैच में विराट कोहली ने सिर्फ 5 रन का योगदान दिया था। हालांकि इस हार के बाद भी इस वक्त आरसीबी अंकतालिका में तीसरे नंबर पर बनी हुई है। आरसीबी ने अब तक 8 मैचों में से 5 मैच जीते हैं और 3 में उसे हार का सामना करना पड़ा है।