कोरोना के प्रकोप के चलते बंद हुआ क्रिकेट जल्द ही करेगा वापसी

कोरोना के प्रकोप के चलते बंद हुआ क्रिकेट जल्द ही करेगा वापसी

भारतीय क्रिेकट बोर्ड (BCCI) की शीर्ष समिति की 17 जुलाई को होने वाली चौथी मीटिंग में हिंदुस्तान के संशोधित भविष्य के दौरा प्रोग्राम (एफटीपी) व घरेलू सत्र को अंतिम रूप देने पर चर्चा होगी। कोविड-19(COVID-19) महामारी के मद्देनजर यह मीटिंग भी छह मई को हुई पिछली मीटिंग की तरह औनलाइन होगी। 

नौ सदस्यीय परिषद की मीटिंग में आईपीएल में चीनी प्रायोजन से जुड़े मामले पर भी चर्चा हो सकती है।

चीन की कंपनियों से जुड़े मामलों पर भी होगा फैसला
आईपीएल से संबंधित किसी भी मुद्दे में हालांकि निर्णय लेने का अधिकार केवल इसकी संचालन समिति के पास है जिसने पिछले महीने गलवान घटी में चाइना के साथ हुई झड़प के मद्देनजर चाइना से जुड़ी कंपनियों के प्रायोजन की समीक्षा के लिए मीटिंग बुलाने का निर्णय किया है। मीटिंग के लिए हालांकि तारीख तय नहीं है।

भारतीय टीम पिछली बार मार्च के पहले हफ्ते में मैदान पर उतरी थी। टीम को सीमित ओवरों की श्रृंखला के लिए जुलाई में श्रीलंका व अगस्त में जिम्बाब्वे का दौरा करना था लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण इन श्रृंखलाओं को स्थगित कर दिया गया।



रणजी व इरानी ट्रॉफी पर भी होगा फैसला
कोरोना वायरस (Coronavirus) के मुद्दे हिंदुस्तान में तेजी से बढ़ रहे है, ऐसे में अभी यह स्पष्ट नहीं है कि खिलाड़ी कब एक्सरसाइज शिविर के लिए इकट्ठा हो सकते हैं। कुछ खिलाड़ियों ने हालांकि पर्सनल रूप से नेट एक्सरसाइज शुरु कर दिया है। मीटिंग के एजेंडे में घरेलू क्रिकेट प्रोग्राम को अंतिम रूप देने पर चर्चा भी शामिल है। राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के लागू होने से पहले मार्च में रणजी ट्रॉफी का फाइनल खेला गया था। इसके बाद ईरानी कप को अनिश्चितकालीन स्थगित कर दिया गया था।





आईपीएल का मामला होगा अहम
अगर अक्टूबर-नवंबर में आईपीएल के आयोजन की योजना बनी तो इस बात की आसार है कि घरेलू सत्र को छोटा किया जाएगा। पिछले महीने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने बीसीसीआई को हिंदुस्तान में होने वाले अगले (2021) टी20 दुनिया कप के लिए कर में छूट की मांग पर निर्णय करने के लिए दिसंबर तक का समय दिया था।