हैमिल्टन टेस्ट मैच में इंग्लैंड टीम के कैप्टन जो रूट ने टॉस जीतकर पहले चुनी गेंदबाजी

हैमिल्टन टेस्ट मैच में इंग्लैंड टीम के कैप्टन जो रूट ने टॉस जीतकर पहले  चुनी गेंदबाजी

मेजबान न्यूजीलैंड व इंग्लैंड के बीच दो मैचों की सीरीज का समाप्ति हो गया है. सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच हैमिल्टन में खेला गया जो बेनतीजा रहा है । पांच दिन तक चले इस टेस्ट मैच में दोनों टीमों की ओर से कुल पांच शतक लगे, बावजूद इसके मैच ड्रॉ हो गया व सीरीज मेजबान कीवी टीम ने 1-0 से अपने नाम कर ली, क्योंकि सीरीज का पहला मैच न्यूजीलैंड ने पारी के अंतर से जीता था.

हैमिल्टन टेस्ट मैच में इंग्लैंड टीम के कैप्टन जो रूट ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी थी. ऐसे में न्यूजीलैंड की टीम ने टॉम लाथम के शतक के दम पर सभी विकेट खोकर 375 रन बनाए, जिसके जवाब में इंग्लैंड की टीम ने जो रूट के दोहरे शतक व रोरी बर्न्स के शतक के दम पर 476 रन बनाए. इस तरह इंग्लैंड की टीम को 101 रन की बढ़त मिली. कीवी टीम अपनी दूसरी पारी खेलने उतरी तो उसको शुरुआती दो झटके लगे, परन्तु मैच ड्रॉ करा दिया.

कप्तान विलियमसन व टेलर ने बचाया मैच
101 रन की बढ़त से पार पाने के लिए न्यूजीलैंड की ओर से कैप्टन केन विलियमसन व रोस टेलर ने तीसरे विकेट के लिए अटूट साझेदारी की गई. चौथे दिन के खेल खत्म होने तक नाबाद लौटे विलियमसन व टेलर ने मैच के पांचवें दिन बिना विकेट खोए अपने-अपने शतक सारे किए व मैच ड्रॉ कराने पर विवश कर दिया. ये दोनों खिलाड़ी जानते थे कि वे सीरीज जीत सकते हैं यदि मैच का नतीजा उनके पक्ष में हो या न हो, पर इंग्लैंड इस मैच को नहीं जीतनी चाहिए.