इंग्लैंड के महान गेंदबाजों में शुमार का हो गया निधन

इंग्लैंड के महान गेंदबाजों में शुमार का हो गया निधन

इंग्लैंड के महान गेंदबाजों में शुमार का निधन हो गया है। 70 वर्ष के विलिस ने बुधवार को अंतिम सांस ली। इंग्लैंड (England) के लिए 90 टेस्ट व 64 वनडे मैच खेलने वाले विलिस को 1981 की एशेज सीरीज के हीरो के तौर पर याद किया जाता है। इस छह फुट छह इंच लंबे खिलाड़ी ने क्रिकेट में तब अपनी दहशत कायम की थी, जब संसार में वेस्टइंडीज व ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाजों का बोलबाला था। के साथ भी उनका एक दिलचस्प किस्सा जुड़ा हुआ है।  

बॉब विलिस 1971 से 1984 के बीच इंटरनेशनल क्रिकेट खेले। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 325 व वनडे 80 विकेट लिए। बॉब विलिस जब 1984 में रिटायर हुए तो वर्ल्ड क्रिकेट में सिर्फ ही ऐसे खिलाड़ी थे, जिनके नाम इस इंग्लिश गेंदबाज से अधिक टेस्ट विकेट दर्ज थे। बॉब विलिस के दोनों घुटने की 1975 में सर्जरी हो चुकी थी। इससे उनका प्रदर्शन प्रभावित हुआ। बॉब ने प्रथमश्रेणी क्रिकेट में 899 विकेट लिए थे।  

बॉब विलिस के परिवार ने बयान जारी कर उनके मृत्यु की समाचार दी। बयान में बोला गया है, ‘बॉब के जाने से हम टूट गए हैं। वे असाधारण पति, पिता, भाई व दादा थे। परिवार के हर मेम्बर पर उनका गहरा असर था। उनकी भरपाई कोई नहीं कर सकता। ’ इंग्लैंड व वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने भी बयान जारी किया। उसने कहा, ‘बॉब के निधन की समाचार बड़ी दुखदायी है। वे इंग्लिश क्रिकेट के लीजेंड थे। इंग्लिश क्रिकेट ने अपना अच्छा दोस्त खो दिया है। ’
 

भारतीय क्रिकेटप्रेमी जब भी बॉब विलिस को याद करते हैं तो संदीप पाटिल का जिक्र भी जरूर आता है। संदीप पाटिल ने इंग्लैंड के विरूद्ध 1982 में मैनचेस्टर टेस्ट में 129 रन की पारी खेली थी। उन्होंने अपनी इस नाबाद पारी के दौरान बॉब विलिस के एक ओवर में छह चौके जड़ दिए थे। उस ऐतिहासिक ओवर की तीसरी गेंद नो बॉल थी।