अजीम प्रेमजी फाउंडेशन एजुकेशन की बेहतरी के लिए कर रही कार्य

अजीम प्रेमजी फाउंडेशन एजुकेशन की बेहतरी के लिए कर रही कार्य

प्रतिष्ठित फोर्ब्स मैग्जीन ने विप्रो के फाउंडर-चेयरमैन अजीम प्रेमजी (74) को एशिया का सबसे उदार समाजसेवी घोषित किया है. प्रेमजी ने इस वर्ष 760 करोड़ डॉलर (52,750 करोड़ रुपए) की वैल्यू के विप्रो के शेयर दान किए. 

वे अब तक 2,100 करोड़ डॉलर (1.45 लाख करोड़) की वैल्यू के शेयर समाज सेवा के कामों के लिए दे चुके हैं. फोर्ब्स ने बुधवार को एशिया-पैसिफिक के 30 सबसे बड़े परोपकारियों की लिस्ट जारी की. इसमें प्रेमजी के अतिरिक्त हिंदुस्तान के अतुल निसार व किरण मजूमदार शॉ भी शामिल हैं.

अजीम प्रेमजी फाउंडेशन एजुकेशन की बेहतरी के लिए कार्य कर रही
फोर्ब्स ने ऐसे अरबपतियों, उद्योगपतियों व सेलेब्रिटीज को लिस्ट में शामिल किया जो एशिया-पैसिफिक क्षेत्र की प्रमुख समस्याओं के निवारण की दिशा में लगातार कार्य कर रहे हैं. प्रेमजी 30 जुलाई को विप्रो के चेयरमैन पद से रिटायर हो गए. उनकाअजीम प्रेमजी फाउंडेशन एजुकेशन से जुड़ा हुआ है. 19 वर्ष पुरानी ये संस्था देशभर के 2 लाख स्कूलों के साथ मिलकर एजुकेशन की बेहतरी के कार्य करती है.

लिस्ट में अलीबाबा के फाउंडर जैक मा भी शामिल

हेक्सावेयर टेक्नोलॉजी के फाउंडर व चेयरमैन निसार ने इस वर्ष 15 लाख डॉलर (10.5 करोड़ रुपए) की रकम दान की. उन्होंने ये राशि मुंबई के पास स्थित गर्ल्स स्कूल मौका एकेडमी को दी. ये एकेडमी सुविधाओं से वंचित बच्चियों को निःशुल्क एजुकेशन देती है. बायोकॉन की चेयरपर्सन किरण मजूमदार शॉ व पति जॉन शॉ ने यूके की ग्लासगो यूनिवर्सिटी के लिए जुलाई में 75 लाख डॉलर (52.5 करोड़ रुपए) दिए थे. शॉ खुद भी ग्लासगो यूनिवर्सिटी से पढ़ी हैं. सूची में चाइना की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के फाउंडर जैक मा का भी नाम है.