संकटग्रस्‍त यस बैंक की मदद के लिए आगे आयी स्‍टेट बैंक, करेगी इतने करोड़ रुपये निवेश

संकटग्रस्‍त यस बैंक की मदद के लिए आगे आयी स्‍टेट बैंक, करेगी इतने करोड़ रुपये निवेश

संकटग्रस्‍त की मदद के लिए स्‍टेट बैंक आगे आया है। स्‍टेट बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार ने शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस कर बोला कि यस बैंक को संकट से निकालने के लिए 20 हजार करोड़ रुपये की आवश्यकता है।

स्‍टेट बैंक वैसे इसमें 2450 करोड़ रुपये निवेश करेगा। इसके साथ ही 49 फीसद शेयर भी खरीद सकता है। एसबीआई चेयरमैन रजनीश कुमार ने बोला कि यस बैंक की री-स्‍ट्रक्‍चरिंग का ड्राफ्ट प्‍लान तैयार है व वह पब्लिक डोमेन में है। हमारी निवेश व लीगल टीम उस पर कार्य कर रही है। भारतीय रिजर्व बैंक को सोमवार को वह रिपोर्ट सौंपी जाएगी। कई निवेशकों ने निवेश की इच्‍छा जताई है। स्‍कीम को देखकर उन्‍होंने हमसे सम्पर्क किया है। यदि कोई भी 5 फीसदी से ऊपर का निवेश करना चाहता है तो उसे रिजर्व बैंक के मानकों का अनुपालन करना होगा।

ड्राफ्ट स्‍कीम के मुताबिक हम यस बैंक में 49 फीसदी निवेश कर सकते हैं। इस विषय में 3 सालों के भीतर 26 फीसदी का निवेश बाध्‍यकारी है। जहां तक यस बैंक के जमाकर्ताओं की बात है तो इस तरह के दशा में असुविधा होना लाजिमी है लेकिन हम ग्राहकों को आश्‍वस्‍त करना चाहते हैं कि उनका पैसा बैंक में पूरी तरह सुरक्षित है।

इससे पहले भारतीय रिजर्व बैंक ने गुरुवार को यस बैंक के बोर्ड का नियंत्रण अपने हाथों में ले लिया था। उसके बाद व्यक्तिगत ऋणदाता यस बैंक के शेयर मूल्य में शुक्रवार को शुरुआती कारोबार के दौरान लगभग तीन-चौथाई गिरावट दर्ज की गई। प्रातः काल 11.37 बजे, यस बैंक के शेयर 72 फीसदी से अधिक गिरकर 10.20 रुपये प्रति शेयर पर आ गए।
एसबीआई बोर्ड ने सबसे बड़े ऋणदाता को पूंजी-विपन्न यस बैंक में निवेश करने को 'सैद्धांतिक' मंजूरी दी थी। केंद्रीय बैंक ने भी व्यक्तिगत ऋणदाता को तीन अप्रैल, 2020 तक की मोहलत दी है। प्रति जमाकर्ता बैंक से केवल 50 हजार रुपये की निकासी कर सकता है।