देश में 15 जनवरी तक 21,000 टन आयातित प्याज आने के हैं आसार

देश में 15 जनवरी तक 21,000 टन आयातित प्याज आने के हैं आसार

 देश में 15 जनवरी तक 21,000 टन आयातित प्याज आने की आसार है जिसके ठेके हो चुके हैं। इसके अतिरिक्त एमएमटीसी ने 15,000 टन प्याज आयात के तीन नए टेंडर जारी किए हैं। देश के बाजारों में प्याज की उपलब्धता बढ़ाने की दिशा में सरकार कोशिश कर रही है, जिसके तहत प्याज का आयात करने के साथ-साथ घरेलू स्तर पर प्याज की आपूर्ति और वितरण की व्यवस्था दुरुस्त की जा रही है।

इस सिलसिले में केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि देश में विदेश व्यापार की सबसे बड़ी कंपनी एमएमटीसी ने 4,000 टन प्याज तुर्की से आयात करने का नया ठेका दिया है। यह प्याज जनवरी के मध्य तक देश में आएगा। साथ ही, एमएमटीसी ने 15,000 टन प्याज मंगाने के तीन नए टेंडर जारी किए हैं।

मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि एमएमटीसी ने तुर्की से फिर 4000 टन प्याज मंगाने का अनुबंध किया है, जो इससे पहले दिए गए ठेके के अलावा है।

इसके अलावा, सरकार घरेलू स्तर पर भी उत्पादक राज्यों से प्याज खरीदकर सारे देश में खपत वाले राज्यों को उनकी मांग के अनुसार प्याज मुहैया करवाएगी।

इससे पहले मंगलवार को केन्द्र सरकार ने थोक एवं खुदरा कारोबारियों के लिए प्याज की स्टॉक सीमा घटाकर क्रमश: 25 टन व पांच टन करने का निर्णय किया, जो तत्काल असर से लागू है। इससे पहले सरकार ने थोक एवं खुदरा व्यापारियों के लिए प्याज की स्टॉक सीमा क्रमश: 50 टन व 10 टन तय की थी।

उधर, दिल्ली की आजादपुर मंडी में बुधवार को प्याज की आवक बढ़ने से कीमतों में थोड़ी नरमी रही। आजादुर मंडी एपीएमसी के भाव के अनुसार, प्याज का थोक बुधवार को 30-80 रुपये प्रति किलो था जोकि पिछले कारोबारी सत्र के दौरान 82.50 रुपये प्रति किलो तक चला गया था। दिल्ली-एनसीआर के बाजारों में खुदरा प्याज 80-120 रुपये किलो मिल रहा है।