स्टार्टअप कंपनियों को लगातार फंडिंग जुटाने में मिल रही मदद, पढ़े

स्टार्टअप कंपनियों को लगातार फंडिंग जुटाने में मिल रही मदद, पढ़े

स्टार्टअप्स कंपनियों के लिए जुलाई का महीना बहुत ज्यादा अच्छा रहा. इस माह में स्टार्टअप कंपनियों को लगातार फंडिंग जुटाने में मदद मिली है. 

लगभग 60 से ज्यादा स्टार्टअप्स कंपनियों ने अच्छा खासा फंड जुटाया है. ज्यादातर फंडिंग उन स्टार्टअप्स को मिली जो बहुत जल्दी अपना कारोबार प्रारम्भ किए थे.

जुलाई में शीर्ष स्टार्टअप जिन्होंने अच्छी-खासी रकम जुटाई हैं-

कंपनी का नाम कितना फंड मिला (USD)
जोलो 56,000,000
एमपावर्ड 21,000,000
जेट वर्क 20,754,700
बुलबुल 8,700,000
हेवो 8,000,000
फ्लिंटो क्लास 7,200,000
मैजिक पिन 7,000,000
ब्लू स्मार्ट 5,000,000
इंट्री 3,055,500
ट्रिबो होटल्स 3,000,000
म्यूस वीयरेबल 2,944,580
वेगराॅव 2,500,000
पिगीराइड। इन 1,880,630
गे डच 1,700,000
बिग बैंग बूम सॉल्यूशन 1,475,920
केन 42 1,459,730
ब्लू स्काई एनालिटिकल 1,205,310
सिकरदन 1,200,000
युमलेन 1,000,000
बीआरबी 974,709
गिग इंडिया 974,709
चिंगारी 939,169
प्लम 932,774
गिग फोर्स 805,002
चिटमोंक्स​​​​​​​ 650,000
फायर स्कोर​​​​​​​ 500,000
ओपन ऐप 500,000

गोबलि​​​​​​​

500,000
रिव्यू रिवार्ड्ज ​​​​​​​ 267,875
मित्रों 265,406
वेलक्योर ​​​​​​​ 200,000
पार्कस्मार्ट​​​​​​​ 199,723
पिकराइट ​​​​​​​ 175,000
हेल्प नाउ 125,000
WYN स्टूडियो 66,968
1 एमजी 26,547

जोलो425 करोड़ रुपए के करीब सी राउंड फंडिंग जुटाई

बंगलुरू की को लिविंग ब्रांड कंपनी जोलो स्टे महीने में फंड जुटाने में टॉप पर रही है. 7 जुलाई को जोलो स्टे ने सिरीज फंड के तहत 425 करोड़ रुपए के करीब सी राउंड फंडिंग जुटाई थी. यह फंड उसने इनवेस्ट कॉर्प के नेतृत्व में नेक्सस वेंचर्स पार्टनर्स, मिरै असेट आदि से जुटाई. कंपनी ने इसके साथ ही कुल मिलाकर 9 करोड़ डॉलर की राशि जुटाई थी.

चीनी ऐप्स पर पाबंदी का भी मिला फायदा

आईआईटी मद्रास की स्मार्ट वाच कंपनी म्यूज वियरेबल्स ने भी इसी तरह से 30 लाख डॉलर की राशि जुटाई थी. इस कंपनी ने कोविड-19 को ट्रैक करनेवाले ट्रैकर का निर्माण किया था. इसी तरह वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म मित्रों ने भी जुलाई की आरंभ में पैसे जुटाया था. जबकि शेयर चैट ने हाल में 4 करोड़ डॉलर की फंडिंग जुटाई थी. यह सब तब हुआ जब चीनी ऐप्स पर पाबंदी लगाई गई थी.ब्लाक चैन स्टार्टअप चिटमोंक्स ने भी यूनिकॉर्न इंडिया वेंचर्स से पैसे जुटाने में पास रही.