दिसंबर से टेलिकॉम ऑपरेटरों ने अपने टैरिफ प्लान में बढ़ोतरी करने की कर दी घोषणा, ये हैं नए दाम जाने

 दिसंबर से टेलिकॉम ऑपरेटरों ने अपने टैरिफ प्लान में बढ़ोतरी करने की कर दी घोषणा, ये हैं नए दाम जाने

जहां हिंदुस्तान में एक दिसंबर से टेलिकॉम ऑपरेटरों ने अपने टैरिफ प्लान में बढ़ोतरी करने की घोषणा कर दी है वहीं अब चाइना में भी एक दिसंबर से एक नया नियम लागू हो गया है.

दरअसल, संसार के कई राष्ट्रों में नए मोबाइल या सिम कार्ड खरीदने के लिए लोगों को अपना पहचान लेटर व फोटो दिखाना जरूरी होता है, लेकिन अब चाइना में अपनी पहचान साबित करने के लिए लोगों को अपना चेहरा स्कैन कराना होगा.

इसका सीधा मतलब है कि चाइना में अब किसी भी मोबाइल नेटवर्क का सिम किसी के लिए लेना सरल नहीं होगा. क्योंकि सरकार ने नया सर्विस लेने के लिए फेस स्कैन कराना जरूरी कर दिया है. फेस स्कैनिंग के जरिए दिए गए पहचान लेटर को मैच कराया जाएगा व फिर पुष्टि होने के बाद सिम मिल सकेगा.

 

सरकार ने बोला है कि यह कड़ा प्रावधान साइबरस्पेस पर ठोस नियंत्रण बनाए रखने के लिए प्रारम्भ किया गया है. इसके तहत अब किसी भी आदमी को नया मोबाइल नेटवर्क लेने के लिए फेस स्कैन कराना महत्वपूर्ण हो गया है.

सितंबर में जारी किया गया था नोटिस

आपको बता दें कि इस वर्ष सितंबर में चाइना की इंडस्ट्री एंड इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी मिनिस्ट्री ने एक नोटिस जारी किया था. इसमें बताया गया था कि औनलाइन नागरिकों की सुरक्षा व उनकी हितों की रक्षा के लिए अब मोबाइल नेटवर्क लेते समय अपना ठीक नाम दर्ज कराना और फेस स्कैन कराना जरूरी होगा.

नोटिस में बोला गया था कि 'आर्टिफिशियल एंड अदर टेक्निकल मीन्स' का प्रयोग उनके पहचान के लिए करना चाहिए.

 

मालूम हो कि चाइना पहले से ही जनगणना के लिए चेहरे से पहचान करने वाली तकनीक (फेशियल रिकॉगिनेशन टेक्नोलॉजी) का प्रयोग कर रहा है.

गौरतलब है कि इससे पहले 2017 में चाइना ने एक नया नियम लागू किया था जिसके तहत इंटरनेट प्लेटफॉर्म्स के लिए औनलाइन कंटेंट डालने से पहले यूजर्स की पहचान की पुष्टि करना महत्वपूर्ण कर दिया गया है.