शॉ: यूपीए-2 के वक्त भी नीतियों की थी निंदा

शॉ: यूपीए-2 के वक्त भी नीतियों की थी निंदा

बायोकॉन की चेयरपर्सन किरण मजूमदार शॉ ने रविवार को ट्वीट कर बोला कि सरकार अर्थव्यवस्था को लेकर आलोचना नहीं सुनना चाहती. उम्मीद करते हैं कि खपत व ग्रोथ बढ़ाने के निवारण तलाशने के लिए सरकार इंडस्ट्री से सम्पर्क करेगी. इस मुद्दे में हम अभी तक अलग-थलग हैं.

यूपीए-2 के वक्त भी नीतियों कीनिंदा की थी: शॉ

शॉ के ट्वीट पर उनसे सवाल-जवाब भी हो रहे हैं. उन्होंने एक उपभोक्ता को जवाब दिया कि यूपीए-2 के वक्त भी उन्होंने सरकार की निंदा की थी. शॉ का बोलना है कि हम सभी अर्थव्यवस्था को बढ़ाना चाहते हैं. जब नीतियों से सहमत नहीं होते तब अपनी बात रखते हैं. क्या आपको नहीं लगता कि जो ऐलान अब किए जा रहे हैं वे बजट में भी किए जा सकते थे.

शॉ के बयान से एक दिन पहले उद्योगपति राहुल बजाज ने भी बोला था कि लोग सरकार की निंदा करने में डरते हैं. बजाज के बयान पर रिएक्शन में गृह मंत्री अमित शाह ने बोला कि सरकार पारदर्शी ढंग से कार्य कर रही है. किसी को डरने की आवश्यकता नहीं है.