खुदरा प्याज 80-130 रुपए किलो बिक रहा, विदेशों से भी आ रहा है प्याज

खुदरा प्याज 80-130 रुपए किलो बिक रहा, विदेशों से भी आ रहा है प्याज

 प्याज की जमाखोरी ( onion hoarding ) पर शिकंजा कसने के लिए केन्द्र सरकार ने मंगलवार को फिर एक बड़ा निर्णय लेते हुए प्याज के ( ) 50 प्रतिशत घटाकर क्रमश: 25 टन व पांच टन कर दी है. केंद्रीय उपभोक्ता मामले,

खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ( Union Ministry of Consumer Affairs, Food and Public Distribution ) की ओर से जारी एक आदेश के मुताबिक देश के सभी राज्यों में ( Onion wholesaler ) अब अपने स्टॉक में 25 टन से ज्यादा प्याज नहीं रख सकेंगे जबकि ( ) पांच टन रखी गई है. मंत्रालय ने बोला कि यह आदेश तत्काल असर से लागू होगा. हालांकि यह आयातकों पर लागू नहीं होगा.

 

खुदरा प्याज 80-130 रुपए किलो बिक रहा
प्याज के आसमान छूते दाम को थामने के लिए इससे पहले 30 सितंबर को केन्द्र सरकार ने थोक एवं खुदरा व्यापारियों के लिए प्याज की स्टॉक सीमा तय कर दी थी जिसके अनुसार, थोक व्यापाररियों के लिए प्याज की स्टॉक सीमा 50 टन जबकि खुदरा कारोबारियों के लिए पांच टन थी. देश की राजधानी दिल्ली स्थित आजादपुर मंडी में प्याज का थोक भाव 80 रुपए प्रति किलो को पार कर गया है, जबकि दिल्ली-एनसीआर के बाजारों में खुदरा प्याज 80-130 रुपए किलो बिक रहा है. केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय में सचिव अविनाश कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई मीटिंग में प्याज की महंगाई पर नियंत्रण रखने के लिए कई अहम निर्णय लिए गए. मंत्रालय की ओर सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को लेटर लिखकर प्याज की मांग व आपूर्ति की जिलास्तर पर निगरानी करने को बोला गया है.

 

जमाखोरों पर कठोर कार्रवाई करने के आदेश
सूत्रों ने बताया कि जिला स्तर पर प्याज की स्टॉक की रिपोर्ट प्रतिदिन तैयार करने का आदेश दिया गया है. मतलब जिले में किस व्यापारी के पास प्याज का कितना स्टॉक है, इसकी जानकारी मंत्रालय को दी जाएगी. केन्द्र ने प्रदेश सरकारों को प्याज की जमाखोरी करने वालों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई करने को बोला है. इसके अलावा, केन्द्र सरकार ने प्याज उत्पादक बाजारों से प्याज की खरीद कर गैर-उत्पादक बाजारों पहुंचाने की व्यवस्था करने के लिए नैफेड को एक रोडमैप तैयार करने को बोला है.

 

विदेशों से भी आ रहा है प्याज
पिछले महीने सरकार ने विदेशों से 1.2 लाख टन प्याज का आयात करने का निर्णय लिया. केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने बीते रविवार को बताया कि सरकार 11,000 टन प्याज तुर्की से मंगा रही है जो अगले महीने के पहले हफ्ते तक आएगा. विदेश व्यापार की देश की सबसे बड़ी कंपनी एमएमटीसी ने तुर्की व मिस्र से प्याज आयात के लिए अनुबंध किए हैं. मंत्रालय ने बताया कि एमएमटीसी ने 6,090 टन प्याज मिस्र से मंगाने का अनुबंध किया है जो अगले कुछ दिनों में देश के बाजारों में उतर जाएगा.

 

प्याज के दाम व आवक
आजादपुर मंडी एपीएमसी की मूल्य सूची के अनुसार, दिल्ली में मंगलवार को प्याज का थोक भाव 5-12.50 रुपए से बढ़कर 30-82.50 रुपए प्रति किलो हो गया जबकि आवक 719.5 टन थी. आजादपुर मंडी में एक दिन पहले प्याज की आवक 656.2 टन थी. कारोबारियों ने बताया कि हालांकि आवक में सोमवार के मुकाबले वृद्धि हुई है, लेकिन खपत के मुकाबले आपूर्ति बहुत ज्यादा कम है, इसलिए प्याज के दाम में लगातार इजाफा हो रहा है. आजादपुर मंडी के कारोबारी व ऑनियन मर्चेट एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्र शर्मा ने बताया कि दिल्ली में प्रतिदिन प्याज की खपत 2,000 टन है. उन्होंने बोला कि सरकार को स्टॉक सीमा तय करने के बजाय कारोबारियों को यह आदेश देना चाहिए कि वे अपने स्टॉक रखा प्याज 72 घंटे के भीतर अवश्य बेच दें.