पीएम जन आरोग्य योजना के तहत अपने अस्पतालों को रजिस्टर्ड करने का दिया आदेश

पीएम जन आरोग्य योजना के तहत अपने अस्पतालों को रजिस्टर्ड करने का दिया आदेश

कैबिनेट सचिव ने सभी केन्द्र सरकार के मंत्रालयों को आयुष्मान भारत - पीएम जन आरोग्य योजना (AB-PMJAY) के तहत अपने अस्पतालों को रजिस्टर्ड करने का आदेश दिया है. हाल ही में कैबिनेट सचिव राजीव गाबा ने सभी केंद्रीय मंत्रालयों व राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) को AB-PMJAY के तहत व ज्यादा अस्पतालों को लिस्टेड करने के लिए लिखा था. 

बता दें कि अब तक 18,649 अस्पतालों को लिस्टेड किया गया है व 55 लाख से अधिक लाभार्थियों को आयुष्मान भारत के तहत मुफ्त इलाज दिया गया है.

हाल ही में लिए गए फैसला के मुताबिक, सभी सार्वजनिक अस्पतालों को AB-PMJAY के तहत अपने कवरेज का विस्तार करने के लिए बोला गया है. एक सूत्र के मुताबिक, इस विषय में कैबिनेट सचिव ने सभी मंत्रालयों से आग्रह किया है कि वे अपने अस्पतालों को AB-PMJAY के साथ जोड़ें.

सूत्र ने बताया कि रेलवे, कोल इंडिया , स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया (सेल) व सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स (CAPF) जैसे विभिन्न विभागों के अस्पताल साथ हैं व बाकी आने की प्रक्रिया में हैं. AB-PMJAY में हॉस्पिटल नेटवर्किंग व क्वालिटी एश्योरेंस के महाप्रबंधक डाक्टर जेएल मीणा ने बोला कि एक बार देश भर के सभी अस्पतालों के AB-PMJAY में शामिल होने के बाद ज्यादा से ज्यादा संख्या में आयुष्मान लाभ पाने वाले इलाज प्राप्त कर सकेंगे. मीणा ने बोला कि एनएचए इस विषय में जो भी आवश्यकता होगी उसे पूरा करेगा.

इस योजना के तहत प्रक्रिया प्रारम्भ करने के लिए अस्पतालों को एक औनलाइन पोर्टल प्रारम्भ करना होगा. योजना के तहत आने वाले अस्पतालों को योजना व लाभार्थियों के बीच एक इंटरफेस के रूप में काम करने के लिए एक 'प्रधानमंत्री आरोग्य मित्र' की जरूरत होगी.