वर्ल्ड कप: इन टीमों के बीच हुई जोरदार भिड़ंत में ऐसे ही चकनाचूर हो गए कई रिकॉर्ड

वर्ल्ड कप: इन टीमों के बीच हुई जोरदार भिड़ंत में ऐसे ही चकनाचूर हो गए कई रिकॉर्ड

मुकाबला दुनिया क्रिकेट की दो फायर बिग्रेड टीमों भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच हो व कोई रिकॉर्ड न टूटे, ऐसा तो हो ही नहीं सकता। वर्ल्ड कप 2019 में दोनों टीमों के बीच हुई जोरदार भिड़ंत में ऐसे ही कई रिकॉर्ड चकनाचूर हो गए। भारतीय टीम ने इस मुकाबले में 36 रन से जीत पंजीकृत की व पांच बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को पराजय का कड़वा घूंट पीने पर विवश कर दिया।



ऑस्ट्रेलिया के लिए यह पराजय इसलिए व भी ज्यादा दर्द देने वाली रही क्योंकि वर्ल्ड कप में कोई भी टीम इससे पहले उसके विरूद्ध इतना बड़ा स्कोर नहींं बनाई थी। हिंदुस्तान से मिली पराजय के साथ ही ऑस्ट्रेलिया का वनडे क्रिकेट में 10 मैचों व वर्ल्ड कप में आठ मैचों से चला आ रहा विजयरथ भी रुक गया।

वर्ल्ड कप में चेज करते हुए 20 वर्ष से नहीं हारा था ऑस्ट्रेलिया

गत विजेता ऑस्ट्रेलियाई टीम के वर्ल्ड कप में दबदबे का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि टीम पिछले आठ वर्ल्ड कप में से 5 में खिताब जीत चुकी है। हिंदुस्तान के विरूद्धमुकाबले से पहले उसके नाम एक दिलचस्प रिकॉर्ड व भी था। वो ये कि टीम 1999 के बाद से कभी भी लक्ष्य का पीछा करते हुए वर्ल्ड कप में नहीं हारी थी। जब आखिरी बार 1999 में टीम को लक्ष्य का पीछा करते हुए पराजय का सामना करना पड़ा था तब मौजूदा भारतीय कैप्टन विराट कोहली की आयु महज 10 वर्ष की थी। यहां तक कि इस वर्ल्ड कप में खेल रहे तीन खिलाड़ी अफगानिस्तान के मुजीब उर रहमान व पाक के मोहम्मद हसनैन और शाहिद आफरीदी तो तब पैदा भी नहीं हुए थे।

सेमीफाइनल की राह हुई आसान

गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया पर 36 रन की जीत के साथ ही हिंदुस्तान ने इस टूर्नामेंट में अपनी लगातार दूसरी जीत पंजीकृत की। भारतीय टीम ने पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका को 6 विकेट से हराया था। ऑस्ट्रेलिया को हराने के बाद माना जा रहा है कि भारतीय टीम की सेमीफाइनल की राह भी सरल हो गई है। वो इसलिए क्योंकि उसने अपने शुरुआती दो मैचों में दो मजबूत टीमों को मात दे दी है। भारतीय टीम को अब अपना अगला मुकाबला 13 जून को न्यूजीलैंड के विरूद्ध खेलना है।